22 Nov, 2014, 09:37 PM

Dainik Bhaskar Advertisment Rate Card Dainik Bhaskar Epaper Edition
ऐसे पुरुषों से ज्यादा आकर्षित होती हैं महिलाएं
Monday, 11 February 2013 at 06:59 PM
By | Source

पुराने समय से ही पुरुषों के लिए स्त्रियों का आकर्षण सर्वाधिक रहा है और आज ये आकर्षण और अधिक बढ़ गया है। वैसे तो लगभग सभी पुरुष चाहते हैं कि स्त्रियां उनकी ओर आकर्षित हो लेकिन ऐसा सभी के साथ नहीं होता है। ज्योतिष के अनुसार कुछ विशेष योग बताए गए हैं जिनसे पुरुष में आकर्षण पैदा होता है और स्त्रियां उन पर मोहित हो जाती हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार यहां दिए गए फोटो में जानिए प्रेम विवाह और आकर्षण के खास योग और कौन सी राशि के लोग प्रेम-प्रसंग में कैसे होते हैं...

पं. शर्मा के अनुसार प्रेम विवाह के संबंध में पुरुष के लिए कुंडली में शुक्र ग्रह स्थिति का अध्ययन करना चाहिए। जबकि स्त्रियों के लिए प्रेम विवाह योग का विचार कुंडली में मंगल ग्रह की स्थिति के अनुसार किया जाना चाहिए।

पुरुषों के लिए शुक्र ग्रह आकर्षण पैदा करने वाला ग्रह है। जिस पुरुष की कुंडली में शुक्र मित्र राशि में, स्वराशि में या उच्च का हो तो ऐसा व्यक्ति स्त्रियों को आकर्षित कर लेते हैं। शुक्र सही हो और पुरुष शारीरिक रूप से सुंदर ना भी हो तब भी वह आकर्षक होता है। हालांकि इस आकर्षण को प्रेम नहीं कहा जा सकता है। इस प्रकार का आकर्षण थोड़े ही समय के लिए हो सकता है।

पं. शर्मा के अनुसार यदि किसी स्त्री की कुंडली में मंगल शक्तिशाली हो अथवा कुंडली के किसी भी भाव में सूर्य, बुध, शुक्र की युति हो तो उसके लिए प्रेम विवाह  के योग बनते हैं। स्त्री की कुंडली में सूर्य, बुध एक साथ एवं उसके निकट के भाव में शुक्र हो तो भी प्रेम विवाह के योग बनते हैं। इसी ग्रह स्थिति के साथ ही यदि स्त्री को राहु की महादशा चल रही हो तो उसकी इच्छा से विवाह होने के योग प्रबल होते हैं।

यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शुक्र सप्तम भाव (जीवन साथी का कारक भाव होता है सप्तम स्थान) में होने से भी प्रेम करने वाले साथी की प्राप्ति होती है। चंद्रमा भी यदि उच्च का अथवा सप्तम भाव में हो तो सुंदर एवं प्रेम करने वाले जीवन साथी की प्राप्ति होती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्र को प्रेम का कारक ग्रह माना जाता है। लेकिन शुक्र केवल स्त्री-पुरुष के संबंधों एवं पति-पत्नी के संबंधों में ही कारक ग्रह होता है। माता-पिता, भाई-बहन, अन्य रिश्तेदारों और मित्रों से प्रेम प्राप्त होना या प्रेम प्राप्त न होना अन्य ग्रहों पर निर्भर करता है।

ज्योतिष के अनुसार बताई गई 12 राशियों का अलग-अलग स्वभाव होता है। जिस व्यक्ति की जैसी राशि होती है उसका स्वभाव भी ठीक वैसा ही होता है। आगे दिए गए फोटो में जानिए किस राशि के स्त्री-पुरुष का स्वभाव प्रेम-प्रसंग में कैसा रहता है...

मेष- स्त्री हो या पुरुष जिन लोगों की राशि मेष है वे अपने प्रेम के प्रति सचेत रहते हैं। ये लोग संबंधियों एवं मित्रों से प्रेम करने वाले होते हैं। अपने व्यवहार से अपने प्रेम पात्र के चहेते होते है। सभी लोगों को उचित मान-सम्मान देकर सभी से सम्मान प्राप्त करते हैं। ये लोग जिससे प्रेम करते हैं उनके दोषों को जानते हुए भी नजर अंदाज कर देते हैं और इसी कारण प्रेम में धोखा भी खा सकते हैं।

वृष- इस राशि के स्त्री-पुरुषों प्रेम में बहुत तेज होते हैं। ये लोग जल्दी ही प्रेम की परकाष्ठा पर पहुंचते है एवं शीघ्र ही समाप्त भी कर देते हैं। इन्हें ज्यादा समय तक प्रेम में धोखे से दुख भी नहीं होता है। यह सभी रिश्तेदारों और संबंधियों से प्रेम करते है किंतु प्रेम में कुछ कमी महसूस करते हैं।

मिथुन- इस राशि के लोग प्रेम-प्रसंग के मामलों में बहुत ही सोच-समझकर ही आगे बढ़ते हैं। इसी वजह से किसी से प्रेम करने के बाद उसे छोड़ते नहीं हैं। ये लोग दूसरों की कही हुई बातों पर विश्वास भी नहीं करते। मित्रों एवं परिजनों को विशेष आदर एवं प्रेम प्रदान करने वाले होते हैं। काफी हद तक इन लोगों को प्रेम की प्राप्ति भी होती है।

कर्क- कर्क राशि के लोग दूसरों को पूरा मान-सम्मान देते हैं। ये लोग परिजनों को प्रेम करने वाले होते हैं। कभी किसी का अपमान नहीं करते। इस राशि के लोगों को संतान की ओर से एवं जीवन साथी की ओर से अटूट प्रेम प्राप्त होता है। कभी-कभी इस राशि के लोगों के घरवाले इनके इनके प्रेम का आदर नहीं कर पाते हैं। इनका स्वभाव सीधा और सरल होता है।

सिंह- सिंह राशि के लोगों का प्रेम आसाधारण होता है। यह लोग प्रेम संबंध को जीवन पर्यन्त निभाते हैं। इन लोगों की मित्रता सीमित होती है लेकिन जिससे दोस्ती होती है उसे पूरी तन्मयता से निभाते हैं। माता-पिता, मित्रों एवं परिजनों से प्रेम करने वाले एवं उनका ख्याल रखते हुए उनको आगे बढ़ाने वाले होते हैं। ये लोग संतान से भी बहुत प्रेम प्राप्त करने वाले होते हैं।

कन्या- इस राशि के स्त्री-पुरुष आकर्षक होते हैं। इन्हें अपने जीवन में सभी से प्रेम की प्राप्ति होती है किंतु रहस्यमयी व्यवहार होने के कारण यह संबंधियों एवं मित्रों के प्रेम से वंचित हो जाते हैं। चंचलता को यह पसंद नहीं करते तथा शिष्टिता से रहने वालों के साथ ही संबंध बनाते हैं। इनका प्रेम स्वार्थी नहीं होता है।

तुला- ये लोग बुद्धि और ज्ञान के मामले में बहुत तेज होते हैं। इस राशि के स्त्री-पुरुष बहुत सोच कर ही मित्र, संबंधी अथवा अन्य लोगों से किसी भी प्रकार का संबंध बनाते हैं। जीवन में एक ही साथी को अपनाते है तथा उस पर अपना पूरा प्रेम न्यौछावर करते हैं। इसी प्रकार का व्यवहार ये लोग अपने साथी से भी चाहते है किंतु ऐसा अक्सर हो नहीं पाता। कभी-कभी इनका जीवन साथी प्रेम संबंधों  को ईमानदारी से नहीं निभाता। फिर भी ये लोग अपने प्रेम को जीवन साथी के प्रति कम नहीं करते।

वृश्चिक- इस राशि के जातक अपने प्रेम को पूरी निष्ठा से निभाते हैं। ये लोग प्रेम के बदले सिर्फ प्रेम चाहते हैं लेकिन कुछ लोग इस बात में सफल नहीं हो पाते हैं। कभी-कभी इन्हें यह अहसास भी होता है कि इनके प्रेम का दुरुपयोग हुआ है। माता-पिता के प्रति यह हमेशा प्रेमपूर्ण व्यवहार रखते है। कुछ परिस्थितियों में इन्हें अन्य लोगों द्वारा गलत भी समझा जा सकता है। पिता के साथ कभी-कभी तनाव भी हो सकता है।

धनु- इस राशि के स्त्री पुरुष पे्रमपूर्ण व्यवहार करने वाले तथा सभी को साथ में लेकर चलने वाले होते हैं। सभी को उचित मान-सम्मान देते है एवं सभी सम्मान प्राप्त भी करते हैं। छोटी-छोटी बातों को छोड़ दिया जाए तो जीवन साथी से इन्हें हमेशा प्रेम प्राप्त होता है। इनका स्वभाव सरल होता है।

मकर- जिन लोगों की राशि मकर है वे लोग दूसरों का ध्यान रखने वाले लोगों की ओर बहुत ही जल्दी आकर्षित होते हैं। यदि कोई इंसान इनसे थोड़ी सी भी अच्छी बात कर ले तो ये लोग उसकी ओर मोहित हो सकते हैं। यह सभी से प्रेम करने वाले होते है। 

कुंभ- इस राशि के लोग दूसरों को बहुत ही जल्द आकर्षित करने वाले होते हैं। इन्हें प्रेम पात्र को पाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। प्रेम पाने के लिए इन्हें कई प्रकार के संघर्ष भी करना पड़ते हैं। हृदय से यह शुद्ध होते हैं। मित्रता को पूरी निष्ठा से निभाते हैं। ये लोग किसी से कोई अपेक्षा नहीं रखते हैं। अपने कार्य एवं हालात से संतुष्ट रहते हैं और इसी वजह से मान-सम्मान प्राप्त करते हैं।

मीन- मीन राशि के स्त्री-पुरुष आकर्षक होते है। और इसी कारण अक्सर प्रेम संबंध बदल लेते हैं। समय के साथ ही इनके प्रेम की परिभाषा बदल जाती है। हालांकि ये लोग नरम दिल के होते हैं और इसी वजह से सभी इनसे मोहित हो जाते हैं। घर-परिवार के सदस्यों की नि:स्वार्थ भाव से सेवा करना इनका स्वभाव होता है लेकिन परिवार की ओर से उचित प्रेम प्राप्त नहीं कर पाते हैं। इन लोगों को विवाह के बाद जीवन साथी से पूरा प्रेम प्राप्त होता है।

 
User Comments
No comment posted yet. Be the first one to post comment.
Post comment on this article