•  19°C  Mist
Dainik Bhaskar Hindi

Home » City » 2 thief caught by police

डिक्की से दो लाख उड़ाने वाले अंतर्राज्यीय कंजर गिरोह के दो गिरफ्तार

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2017 13:23 IST

डिक्की से दो लाख उड़ाने वाले अंतर्राज्यीय कंजर गिरोह के दो गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क,अनूपपुर। 8 सितम्बर को बिजुरी थानान्तर्गत नगर में सेवानिवृत्त कालरी कर्मचारी ननकू केवट ने अपने पुत्रों के लिए बाइक खरीदने के लिए बैंक से दो लाख रुपए निकलवाए थे। दो पहिया वाहन शो रूम के बाहर मोटर सायकल खड़ी कर जैसे ही वह शो रूम के अंदर गया मोटर सायकल की डिक्की तोडक़र दो लाख रुपए पार कर दिए गए थे। फरियादी की शिकायत पर बिजुरी थाने में अज्ञात चोरों के विरूद्ध 379 का मामला कायम किया गया। पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने घटना की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों पर 5 हजार का ईनाम भी घोषित किया। साथ ही एसडीओपी विजय सिंह परिहार को टीम बनाकर कार्यवाही के निर्देश भी दिए। थाना प्रभारी बिजुरी महेन्द्र सिंह चौहान ने तीन टीमों का गठन किया जो लगातार दबिश दे रही थी। 12 सितम्बर की सुबह अंतर्राज्यीय कंजर गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर चोरी की रकम को जब्त किया गया। पूरे मामले की जानकारी पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन ने प्रेस कांफ्रेस कर साझा की। 

लुका-छिपी के बाद गिरफ्तार 

थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान ने प्राथमिक जांच के आधार पर ही यह बात कही थी कि इस चोरी की वारदात में कंजर गिरोह का हाथ है। जिसके बाद  मध्यप्रदेश व छग में कंजरों का इतिहास खंगाला जा रहा था। वहीं 8 सितंबर  की वारदात के बाद लोगों के बताए अनुसार आरोपी के हुलिए का स्कैच भी बनवाया गया। 11 सितंबर की शाम मुखबिरों से थाना प्रभारी को सूचना मिली कि इससे मिलता जुलता हुलिया बुढ़ार थानान्तर्गत खमरौध में रहने वाले चन्द्रभान कंजर का है। घटना के महज 4 दिन के अंदर ही  पुलिस ने 12 सितंबर की अल सुबह दबिश दी तो  चन्द्रभान अपने साले विजय के साथ भाग निकला। जिसका पीछा पुलिस ने लगभग एक घंटे तक किया और राष्ट्रीय राजमार्ग 43 में गिरफ्तार करने में सफल रही। 

पहले रेकी फिर चोरी 

पकड़े गए दोनों आरोपियों चन्द्रभान व विजय ने बतलाया कि वे बैंकों के सामने रेकी करते थे। जिसके बाद डिक्की में रुपए रखकर जाने वालों का पीछा  करने के साथ ही मौका मिलते ही रुपए पार कर देते थे। वहीं यदि कोई व्यक्ति  पैदल झोले में रुपए लेकर जाता था तो वे उस पर बिस्किट खाकर थूक देते थे और गंदगी लगे होने की बात उस व्यक्ति को बतलाते थे। जब वह गंदगी  साफ करने के लिए झोला यहां-वहां रखता था तो वे उसे पार कर देते थे। 

तीन राज्यों में लाखों की वारदात 

पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस को बतलाया कि उन्होंने एमपी नगर भोपाल से दो लाख रुपए, बिलासपुर से 50 हजार, रायपुर से 50 हजार, पेंड्रा से एक लाख रुपए की चोरी कर चुके हैं। बिजुरी में भी 8 सितंबर को उन्होंने दो लाख रुपए उड़ाए हैं। 3 अलग-अलग राज्यों में चोरियों की लंबी फैहरिस्त उनके द्वारा स्वीकार की गई है। 

दो लाख 10 हजार बरामद 

पुलिस ने ननकू केवट के पास से चोरी गए दो लाख रुपयों में से एक लाख 95 हजार 800 रुपए जब्त किए। वहीं अप्रैल 2016 में अरूणेन्द्र सिंह के कार से चोरी गए 50 हजार रुपयों में से 10 हजार तथा इसी वर्ष अप्रैल माह में लक्ष्मी स्वसहायता समूह की अध्यक्ष से चोरी गए 10 हजार रुपयों में से 5 हजार रुपए जब्त किए। इस घटना के खुलासे में थाना प्रभारी समेत एसआई एमबी प्रजापति, आरएस तिवारी, पीएसआई सुमित कौशिक,एसआई अलोक सिंह, उप निरीक्षक सुनीता गुप्ता, गुरू प्रसाद चतुर्वेदी समेत टीम  की भूमिका सराहनीय रही। 
 

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

एक नज़र इधर भी
loading...

FOLLOW US ON