•  19°C  Mist
Dainik Bhaskar Hindi

Home » City » 67 persent of water saved this year

जलाशय अभी भी खाली , सेव हुआ 67 प्रतिशत ही पानी

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2017 15:37 IST

जलाशय अभी भी खाली , सेव हुआ 67 प्रतिशत ही पानी

डिजिटल डेस्क, मुंबई।  इस बार मानसून में अब तक राज्य के जिले भर नहीं पाए हैं फलस्वरुप जलाशयों में 67 प्रतिशत ही वाटर सेव हुआ है। पिछले साल इस समय में लगभग 68.23 प्रतिशत पानी उपलब्ध था।  सीएम कार्यालय की तरफ से यह जानकारी दी गई। इसके अनुसार राज्य के कुछ जिलों को छोड़कर अधिकांश जिलों में अच्छी बारिश हुई है। 

अगस्त महीने के आखिर में हुई बारिश के कारण जलाशयों का जलस्तर बढ़ा है। जून महीने से लेकर अभी तक लगभग 78 प्रतिशत बारिश हुई है। बीते साल इस समय 85 प्रतिशत बारिश हुई थी। ठाणे, रायगढ़, पालघर, अहमदनगर, पुणे, बीड़, उस्मानाबाद जिले में 100 प्रतिशत से अधिक वर्षा हुई है। नागपुर, रत्नागिरि, सिंधुदुर्ग, नाशिक, धुलिया, नंदूरबार, सोलापुर, सातारा, सांगली, जालना, लातूर और बुलढाणा जिले में 76 से 100 तक बारिश हुई है।  जलगांव, कोल्हापुर, औरंगाबाद, नांदेड़, परभणी, हिंगोली, अकोला, वाशिम, अमरावती, वर्धा, भंडारा, गोंदिया, चंद्रपुर, गढ़चिरोली जिले में 51 से 75 के बीच बारिश हुई है। यवतमाल जिले में 26 से 50 प्रतिशत के बीच बारिश हुई है। 

नागपुर में 35.15 प्रतिशत पानी 
नागपुर विभाग के जलाशयों में 35.15 प्रतिशत, अमरावती में 26.77 प्रतिशत, नाशिक में 74.98 प्रतिशत, मराठवाड़ा में 50.05 प्रतिशत, कोंकण में 94.32 प्रतिशत और पुणे विभाग में 86.10 प्रतिशत पानी उपलब्ध है। 
राज्य में 302 टैंकरों से जलापूर्ति 
प्रदेश के 312 गांवों और 1504 बस्तियों में 302 टैंकरों से जलापूर्ति जारी है। पिछले साल इस समय 144 गांवों और 680 बस्तियों में 204 टैंकरों से पानी की आपूर्ति की जा रही थी। औरंगाबाद, बुलढाणा, अहमदनगर, जलगांव, धुलिया, नाशिक, पुणे, सातारा, सांगली और सोलापुर जिले के सूखाग्रस्त गांवों में टैंकरों से पानी पहुंचाया जा रहा है।

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

एक नज़र इधर भी
loading...

FOLLOW US ON