Dainik Bhaskar Hindi

महागठबंधन टूटा तो बीजेपी देगी नीतीश को समर्थन

महागठबंधन टूटा तो बीजेपी देगी नीतीश को समर्थन

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली/पटना। बिहार की राजनीति में एक बार फिर बवाल मचता नजर आ रहा है। भारतीय जनता पार्टी ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार को समर्थन देने का खुला ऑफर दिया है। नीतीश कुमार मंगलवार को जेडीयू कार्यकारिणी की बैठक करने वाले हैं। उससे पहले बिहार बीजेपी नेता नित्यानंद राय के नीतीश को समर्थन देने वाले बयान से मामले में नया ट्विस्ट आ गया है। नित्यानंद राय ने कहा कि नीतीश राजद से अपना नाता तोड़ दे तो भाजपा, जदयू को बाहर से समर्थन देने को तैयार है।

सोमवार को अपना बयान जारी करते हुए नित्यानंद राय ने साफ कहा कि अगर राज्य सरकार पर कोई संकट आता है तो बीजेपी बाहर से समर्थन देने को तैयार है। राय ने साथ ही मांग की है कि सीएम नीतीश कुमार डिप्टी सीएम तेजस्वी को उनके पद से बर्खास्त कर दें। उन्होंने कहा, 'अगर तेजस्वी इस्तीफा नहीं देते हैं तो सीएम उन्हें बर्खास्त कर दें। तेजस्वी के खिलाफ मामला दर्ज हो चुका है। कोई भी कानून बेनामी संपत्ति रखने की इजाजत नहीं देता है।'

लालू पर निशाना साधते हुए राय ने कहा कि जब लालू सीएम बने थे तो उनके पास इतनी संपत्ति नहीं थी। उन्होंने कहा, 'बीजेपी का मानना है कि लालू ने किसानों और पशुपालकों की कमाई को अपने नाम कर लिया है। लालू यादव को बताना चाहिए कि उनके पास हजारों करोड़ की संपत्ति कहां से आई।' राय ने कहा, 'बिहार का विकास जरूरी है। महागठबंधन में जेडीयू का रहना या नहीं रहना नीतीश पर निर्भर है। अगर नीतीश महागठबंधन से अलग होते हैं और राज्य की सरकार पर कोई संकट आता है तो हम बाहर से समर्थन के लिए तैयार हैं।' उन्होंने कहा, 'अगर केंद्रीय नेतृत्व का आदेश आया तो हम राज्य सरकार को गिरने नहीं देंगे और समर्थन करेंगे।'

गौरतलब है कि आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव के खिलाफ बेनामी संपत्ति मामले में केंद्रीय एजेंसियों की ताबड़तोड़ छापेमारी के बाद राज्य का राजनीतिक तापमान गरमा गया है। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर मामला दर्ज होने के बाद विपक्ष उनके इस्तीफे की मांग कर रहा है। नीतीश कुमार ने भी राष्ट्रपति के एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को समर्थन देकर और राजद सुप्रीमो लालू यादव पर छापेमारी के बाद मौन रहकर साफ कर दिया है कि वे क्या चाहते हैं।

Most Popular
LIFE STYLE

FOLLOW US ON