Dainik Bhaskar Hindi

जानलेवा गेम : दमोह के सात्विक ने ट्रेन के सामने आकर दे दी जान

डिजिटल डेस्क, दमोह। ब्लू व्हेल गेम के जाल में फंसकर मध्य प्रदेश के दमोह में 12वीं के एक स्टूडेंट ने अपनी जान दे दी। ये प्रदेश का पहला मामला है, इससे पहले भी इंदौर का एक किशोर अपनी जान देने के लिए बिल्डिंग से कूदने वाला था, लेकिन वक्त रहते उसे बचा लिया गया था।

लेकिन दमोह का सत्विक उतना खुशकिस्मत नहीं रह और ब्लू व्हेल चैलेंज की आखिरी स्टेज पार करने के चक्कर में ट्रेन के आगे बैठकर अपनी जान दे दी। यह मामला शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात का है। मृतक अपने माता पिता की इकलौती संतान था। पुलिस के अनुसार जनपद पंचायत में पदस्थ कोतवाली थाने को फुटेरा वार्ड 2 निवासी संजय पांडे का युवा पुत्र सात्विक 12वीं क्लास का छात्र था। कुछ दिनों पहले ही उसे ब्लू व्हेल गेम चैलेंज की जानकारी लगी और वो इसे खेलने लगा। जानलेवा खेल की लत में सात्विक इस कदर डूब गया कि वो खेल के हर पड़ाव को पूरा करने के लिए प्रयास करने लगा।

खेल के आखिरी स्टेज में सात्विक के सामने आत्महत्या करने का टास्क आया और उसे पूरा करने की धुन में रात को परिजनों को बगैर बताए ही वो घर से बाइक लेकर निकला। सात्विक फुटेरा तालाब के पास स्थित रेलवे फाटक पर पहुंच गया। जहां बाइक को एक और खड़ा कर वह रेलवे ट्रैक पर जाकर सामने से आ रही ट्रेन के सामने सेल्फी लेने लगा। इसके बाद वो ट्रेन के सामने घुटने टेककर बैठ गया। पूरी घटना फाटक के समीप बने एक मकान के CCTV कैमरे में कैद हो गई। घटना की जानकारी मृतक छात्र के परिजनों को सुबह मिली। पुलिस ने मृत कायम कर मामला जांच में लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है और लोगों से अपने बच्चों के मोबाइल की जांच कर इस जानलेवा खेल से दूर रखने की अपील भी कर रही है।

दमोह के ASP अरविंद दुबे ने मामले में कहा कि छात्र की मौत के बाद पुलिस ने मामला जांच में लिया है। उसके मोबाइल की जांच भी की जा रही है, लेकिन इस तरह के जानलेवा खेलों से लोगों को दूर रखने की जरूरत है।

FOLLOW US ON