Dainik Bhaskar Hindi

किताब-लैपटाॅप से दोस्ती करें ‘कश्मीरी युवा’ : रावत

किताब-लैपटाॅप से दोस्ती करें ‘कश्मीरी युवा’ : रावत

टीम डिजिटल, जम्मू. जम्मू कश्मीर में आईआईटी प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्रों को सम्बोधित करते हुए आर्मी चीफ बिपिन रावत ने आज मंगलवार कहा कि किताबें और लेपटॉप ही कश्मीरी छात्रों को हिंसा से दूर रख सकते हैं. जम्मू कश्मीर में फैली अराजकता के चलते युवाओं के भविष्य खराब होने की बात कहते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि वे हिंसा का दौर समाप्त करने के लिए लैपटाप और किताबों को चुनें. आर्मी चीफ ने आगे कहा, 'आईआईटी में सफलता कोई सामान्य उपलब्धि नहीं है. अब आप घाटी में युवाओं के उज्ज्वल उदाहरण बन गए हैं.'

आयोजन में सेना प्रमुख ने जम्मू कश्मीर में अपनी नौकरी के अनुभवों को भी बच्चों के साथ साझा किया. उन्होंने कहा कि राज्य में उनकी पहली पोस्टिंग के समय स्थिति काफी बेहतर थी. उन्होंने कहा, कश्मीर स्वर्ग है. हमें उस स्तर को वापस लाना है जो वहां पहले था. लोग घाटी को देखने के लिए उमड़ पड़ते थे, किन्तु तनाव के कारण लोग नहीं आ पा रहे हैं. उन्होंने छात्रों से कहा कि वे अपना अध्ययन पूरा करने के बाद अपनी जड़ों की ओर वापस लौटे. राज्य के विकास में मदद करें, ताकि लोगों की समस्याओं को दूर करने में मदद मिल सके.

Most Popular

FOLLOW US ON