Dainik Bhaskar Hindi

कर्ज माफी: पहले कछुआ चाल, अब छलांंग 

कर्ज माफी: पहले कछुआ चाल, अब छलांंग 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कर्जमाफी योजना के शुरुआत में कार्यगति कछुआ चाल से होने के कारण अब जब लक्ष्य पूरा करने के लिए 4 ही दिन शेष रह गए है ऐसे में शासन को अब ऊंची छलांग यानी तेज गति से काम करना पड़ रहा है। कर्जदार किसानों को डेढ़ लाख रुपए तक का कर्ज देने के लिए राज्य सरकार की ओर से छत्रपति शिवाजी महाराज शेतकरी सम्मान योजना शुरू की गई है। इस योजना का लाभ जिले के करीब डेढ़ लाख किसानों तक पहुंचाने का लक्ष्य रखागया था, मगर 24 अगस्त तक मात्र 10000 किसानों ने इस योजना का लाभ लेने के लिए पंजीयन कराया। यह देख जिला प्रशासन विभाग की आईटी टीम ने कड़ी मेहनत के बल पर सिर्फ 15 दिनों में इस योजना को 1.35 लाख किसानों तक पहुंचाया। अब 4 दिनों में मात्र 3 हजार किसानों को इस योजना के तहत जोड़ने में विभाग जुटा हुआ है।

15 दिनों के भीतर ऐसे बढ़ी संख्या

आईटी विभाग के प्रोजेक्ट मैनेजर उमेश घुग्घुस्कर बताते हैं कि, योजना का लाभ लेने के इच्छुक लोगों की संख्या पहले बहुत कम रही। राज्य में पंजीयन करने के हिसाब से नागपुर जिला 24वें स्थान पर था। इसके बाद टीम द्वारा  ग्राम पंचायत के कर्मचारियों की सहायता से किसानों तक पहुंचने पर जोर दिया गया। इससे 15 दिनों के भीतर ही 10 हजार से यह आंकड़ा बढ़कर 1 लाख 46 हजार 844 तक पहुंच गया। जिलाधिकारी सचिन कुर्वे ने 15 सितंबर तक और लाभार्थियों का ऑनलाइन पंजीयन कराने के लिए महा आईटी विभाग को पूरा जोर लगाने के निर्देश दिए हैं।

Similar News
नागपुर सेंट्रल जेल में सुरक्षा व्यवस्था की पोल खुली, जानिए कैसे हुआ कातिल का कत्ल ?

नागपुर सेंट्रल जेल में सुरक्षा व्यवस्था की पोल खुली, जानिए कैसे हुआ कातिल का कत्ल ?

खनन पर्यटन को कौड़ी का लाभ नहीं, जितना कमाया उतना गंवाया

खनन पर्यटन को कौड़ी का लाभ नहीं, जितना कमाया उतना गंवाया

कुत्तों की नसबंदी : अब तक नहीं हुआ ऑपरेशन सेंटरों का सेलेक्शन

कुत्तों की नसबंदी : अब तक नहीं हुआ ऑपरेशन सेंटरों का सेलेक्शन

'प्रोड्यूसर्स को मुनाफे की चिंता, बाल फिल्मों को मिलना चाहिए सब्सिडी'

'प्रोड्यूसर्स को मुनाफे की चिंता, बाल फिल्मों को मिलना चाहिए सब्सिडी'

LIFE STYLE

FOLLOW US ON