•  17°C  Mist
Dainik Bhaskar Hindi

Home » Automobile » cycle is best mode transport to fight pollution and traffic

जानिए यहां, छोटे सफर के लिए कितनी कारगर है साइकल

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 13th, 2017 10:56 IST

जानिए यहां, छोटे सफर के लिए कितनी कारगर है साइकल

डिजिचल डेस्क, नई दिल्ली। छोटे सफर के लिए साइकल एक बढ़िया जरिया है। एक तो यह आपको फिट रखने में मदद करती है, दूसरी ओर इससे प्रदूषण का खतरा भी नहीं रहता। ऑफिस हो या कॉलेज या फिर थोड़ी दूर से सामान लेकर आना हो, साइकल से बेहतर और कुछ नहीं। एक्सर्साइज के साथ-साथ आप अपनी दूरी आराम से तय कर सकते हैं। मार्केट में आपको 2000 रुपये से लेकर 1.5 लाख रुपये तक की रेंज में साइकल मिल जाएंगी। इनमें स्पोर्ट्स, हाइब्रिड, माउंटेन, रोड, फोल्डिंग जैसे कई ऑप्शन हैं। साइकल की रेंज के अलावा इसे यूज करने के हिसाब से भी 3 कैटिगरी में बांटा गया है: बेसिक, मॉडरेट और प्रफेशनल्स। अगर आप शौकिया तौर पर साइकल लेना चाहते हैं 3000 से 4500 रुपये तक में काफी अच्छे ऑप्शंस मिल जाएंगे। इसके अलावा और भी बेहतर रेंज में साइकल बाजार में उपलब्ध हैं।

Image result for cycle is best mode transport to fight pollution and traffic
मार्केट में सिंगल स्पीड की अच्छी साइकलें 3 से 5 हजार रुपये की रेंज में मौजूद हैं, जो आपकी राइड का मजा बढ़ा सकती हैं। इन तरह की साइकिलों में आपको पावरफुल ब्रेक के साथ स्टील मेटल की बॉडी मिलती है, जिसकी वजह से इसका वजन अपेक्षाकृत कम ही होता है। इनकी मेटिनेंस कॉस्ट भी काफी कम होती है और ये पूरी तरह से पैसा वसूल साबित होती हैं।

Image result for cycle is best mode transport to fight pollution and traffic
ऑफिस अगर पास है तो हफ्ते में एक-दो बार तो साइकल से जा ही सकते हैं। वैसे भी मार्केट में ऑप्शंस की भरमार है। आपको 8 से 15 हजार रुपये की रेंज में शानदार साइकल मिल सकती है। दिल्ली से सटे इंदिरापुरम में स्पोर्ट्स सेंटर डिकैथलॉन के स्पोर्ट्स अडवाइजर मोहित शर्मा का कहना है कि उनके यहां 3 हजार से लेकर 37000 रुपये तक की साइकल उपलब्ध हैं। साइकल को लेकर अब एक नया क्रेज देखने को मिल रहा है। दिल्ली-एनसीआर के लोगों का रुझान साइकल की ओर बढ़ा है। ऐसे लोगों की तादाद लगातार बढ़ रही है, जो साइकल से चलने में खुद को ज्यादा फ्रेश और फिट महसूस करते हैं।

अगर आप प्रफेशनल लेवल पर साइक्लिंग का शौक रखते हैं तो 24 गियर वाली ऐल्युमिनियम फ्रेम की साइकल आपके लिए बेहतर है। लगभग 10 किलो की ट्राईबैन 300 आपको 8 अलग-अलग साइज में मिल सकेगी। अलॉय वील्स के साथ इसे लंबी राइड के लिए खास तौर से डिजाइन किया गया है। इसकी कीमत 37000 रुपये है।

Image result for 24 gear cycle

 

30 हजार में आपको 27 गियर वाली मल्टिपर्पज साइकल मिल जाएगी, जिसे लेकर आप सिटी और पहाड़ों पर भी जा सकते हैं। इस तरह की साइकल में बाइक की तरह हाइड्रॉलिक सस्पेंशन और ब्रेक लगा होता है जो साइक्लिंग के दौरान आपकी काफी मदद करता है।

Image result for folding cycle

 

बाजार में ऐसी साइकलें भी हैं, जिन्हें आप फोल्ड करके अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं। लोग हॉलिडे पर इस तरह की साइकल ले जाना काफी पसंद करते हैं। ऐसी ही फोल्डिंग साइकिल बनाने वाली कंपनी फायरफॉक्स बाइक्स के सीईओ शिव इंदर सिंह का कहना है कि ऑड-ईवन का कॉन्सेप्ट काफी अच्छा है। इससे न सिर्फ पल्यूशन को कंट्रोल करने में मदद मिलेगी,बल्कि जाम से भी निजात मिलेगी। और जहां तक रही बात ऑफिस जाने की तो साइकल से बढ़िया ऑप्शन और कुछ भी नहीं। फोल्डिंग बाइक से आप आसानी से अच्छी-खासी दूरी कवर कर सकते हैं। विदेशों में तो शॉर्ट डिस्टेंस कवर करने के लिए साइकल सबसे ज्यादा यूज की जाती है। अच्छी बात है कि यह ट्रेंड अब हमारे यहां भी आ रहा है। लोगों को साइकल चाहिए, लेकिन इसे रखने की समस्या से उन्हें दो-चार होना पड़ता है। ऐसे में फोल्डिंग साइकल इसका सलूशन है। इसे ऑफिस, घर, जिम कहीं भी फोल्ड कर आसानी से रखा जा सकता है।

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

Similar News
लड़खड़ाएगी नहीं HONDA की नई सेल्फ बैलेंसिंग बाइक

लड़खड़ाएगी नहीं HONDA की नई सेल्फ बैलेंसिंग बाइक

'हिमालयन' जैसे लुक में आ रही है HERO की नई XPulse, ऑफ रोडिंग के लिए जबरदस्त

'हिमालयन' जैसे लुक में आ रही है HERO की नई XPulse, ऑफ रोडिंग के लिए जबरदस्त

BAJAJ अवेंजर को पटखनी देने आ रही SUZUKI की ये नई बाइक

BAJAJ अवेंजर को पटखनी देने आ रही SUZUKI की ये नई बाइक

LORDS OF THE STREET, कार से भी दमदार हैं ये बाइक्स 

LORDS OF THE STREET, कार से भी दमदार हैं ये बाइक्स 

Bikes की बिक्री के मामले में Bajaj को पछाड़ नंबर-2 बनी Honda

Bikes की बिक्री के मामले में Bajaj को पछाड़ नंबर-2 बनी Honda

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

एक नज़र इधर भी
loading...

FOLLOW US ON