•  20°C  Mist
Dainik Bhaskar Hindi

Home » National » Gujarat riots convict maya kodnani get last chance for BJP president amit shah

नरोदा गाम दंगा : अमित शाह की गवाही के लिए माया कोडनानी के पास आखिरी मौका

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 08th, 2017 18:18 IST

डिजिटल डेस्क, गांधीनगर। गुजरात दंगों के दौरान नरोदा गाम दंगा मामले की सुनवाई करते हुए स्पेशल कोर्ट ने गुजरात सरकार की पूर्व मंत्री माया कोडनानी को आखिरी मौका दिया है। माया कोडनानी अपने पक्ष में अमित शाह को गवाही देने के लिए अदालत बुलाना चाहती हैं, लेकिन माया कोडनानी अब तक अपने पक्ष में गवाही के लिए अमित शाह को कोर्ट आने के लिए राजी नहीं कर सकी हैं।

कोर्ट ने नरोदा गाम दंगा मामले में सुनवाई करते हुए कहा कि अगली तारीख तक अगर माया कोडनानी अमित शाह को गवाही के लिए कोर्ट में पेश नहीं कर पाती हैं तो मुकदमे की सुनवाई टाली नहीं जाएगी। माया कोडनानी ने अदालत से और वक्त मांगा है ताकि वो अमित शाह को कोर्ट के सामने पेश होने के लिए कह सके। माया ने 4 सितंबर की सुनवाई के दौरान विशेष कोर्ट से कहा था कि उसे अमित शाह से संपर्क करने के लिए अधिक वक्त चाहिए ताकि उन्हें समन दिया जा सके और अदालत में हाजिर होने के लिए कहा जा सके।

विशेष जज पीबी देसाई ने कोडनानी को अमित शाह को गवाही के लिए पेश करने के लिए 8 सितंबर तक का समय दिया था। शुक्रवार 8 सितंबर को भी माया कोडनानी उन्हें अदालत के सामने नहीं ला सकी। इसके बाद उन्होंने अदालत से और भी वक्त मांगा है। अदालत को लिखे अपने आवेदन में माया ने कहा कि अमित शाह के व्यस्त कार्यक्रमों की वजह से उनसे संपर्क साधना मुश्किल हो रहा है। माया ने कहा था कि उन्हें ये तय करने में कठिनाई हो रही है कि अमित शाह को किस पते पर समन भेजा जाए। माया कोडनानी ने अदालत से इसके लिए 12 सितबंर तक का समय मांगा था। 

क्या है मामला
नरोदा गाम केस की आरोपी माया कोडनानी ने ये साबित करने के लिए कि 28 फरवरी 2002 को जिस दिन गुजरात दंगे भड़के थे उस दिन वो घटनास्थल पर मौजूद नहीं थी, अमित शाह समेत 14 लोगों की गवाही की मांग की थी। इसमें से 12 लोग माया कोडनानी के पक्ष में गवाही दे चुके हैं। इस घटना में मुस्लिम समुदाय के 11 लोगों की जान गई थी। 2012 में नरोदा पाटिया केस में अदालत माया कोडनानी को उम्र कैद की सजा सुना चुका है। माया और दूसरे 31 आरोपियों ने इस फैसले को गुजरात हाईकोर्ट में चुनौती दी है। पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट ने विशेष न्यायालय को आदेश जारी कर कहा था कि नरोदा गाम केस की सुनवाई 4 महीनें में पूरी कर दी जाए।

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

Similar News
2002 गुजरात दंगा : मोदी के खिलाफ जाकिया जाफरी की याचिका पर फैसला टला

2002 गुजरात दंगा : मोदी के खिलाफ जाकिया जाफरी की याचिका पर फैसला टला

ब्लू व्हेल गेम पर हेल्पलाइन, जानकारी देने वाले को 1 लाख का इनाम

ब्लू व्हेल गेम पर हेल्पलाइन, जानकारी देने वाले को 1 लाख का इनाम

अमित शाह के घर BJP की मीटिंग, हो सकती है कैबिनेट फेरबदल

अमित शाह के घर BJP की मीटिंग, हो सकती है कैबिनेट फेरबदल

दंगों में क्षतिग्रस्त धर्मस्थलों की मरम्मत के लिए मदद नहीं मिलेगी : SC

दंगों में क्षतिग्रस्त धर्मस्थलों की मरम्मत के लिए मदद नहीं मिलेगी : SC

सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम पर धीरे मुकदमा चलाने को लेकर गुजरात सरकार को लगाई फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम पर धीरे मुकदमा चलाने को लेकर गुजरात सरकार को लगाई फटकार

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

एक नज़र इधर भी
loading...

FOLLOW US ON