•  16.8°C  Partly cloudy
Dainik Bhaskar Hindi

Home » National » hearing on petitions related to the Aadhaar will starts in november

नवंबर से सुप्रीम कोर्ट में शुरू होगी आधार से जुड़े मामलों की सुनवाई

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 31st, 2017 09:23 IST

नवंबर से सुप्रीम कोर्ट में शुरू होगी आधार से जुड़े मामलों की सुनवाई

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कहा है कि आधार से जुड़े मामलों से संबंधित याचिकाओं पर वह नवंबर में सुनवाई करेगा। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि इस मामले में तुरंत सुनवाई की जरूरत नहीं है। बेंच आधार से जुड़ी तीन अलग-अलग याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है, जो कि सरकार के उस आदेश को चुनौती देती हैं जिसमें समाज कल्याण की विभिन्न योजनाओं के लाभ लेने के लिए आधार को अनिवार्य करने की बात कही गई है।

यह भी पढ़ें :  'आधार' को सरकारी योजनाओं से लिंक करने की डेडलाइन बढ़ी

विभिन्न याचिकाकर्ताओं का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ वकील श्याम दीवान ने मामला बेंच के सामने रखा। इस बेंच में जस्टिस अमिताब रॉय और जस्टिस ए एम खानविलकर भी थे। दीवान ने याचिकाओं पर जल्द सुनवाई का अनुरोध किया। इन याचिकाओं में समाज कल्याण योजनाओं के लाभ लेने के लिए आधार को अनिवार्य बनाए जाने के केंद्र के कदम को चुनौती दी गई है। दीवान ने कहा कि सरकार ने आधार को लिंक करने की अंतिम तारीख 30 सितंबर कर दी है। ऐसे में इस मामले की सुनवाई तय समयसीमा से पहले कर ली जानी चाहिए। इस पर अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने सरकार की ओर से कहा कि केन्द्र आधार अनिवार्य करने की अंतिम तारीख 31 दिसंबर करने जा रहा है। केन्द्र की ओर से आधार को अनिवार्य करने की डेडलाइन बढ़ाने के बाद बेंच ने कहा, 'इसमें कोई अनिवार्य स्थिति नहीं है। इस मामले को नवंबर के पहले सप्ताह के लिए सूचीबद्ध किया जाएगा।'

यह भी पढ़ें : जीवन और मरण का सुबूत बना 'Aadhaar'

तीन जजों की बेंच ने सात जुलाई को कहा था कि आधार से जुड़े सभी मामलों पर अंतिम निर्णय एक वृहद बेंच द्वारा किया जाना चाहिए। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने 12 जुलाई को कहा कि संवैधानिक बेंच 'निजता के अधिकार' से जुड़े पहलु समेत 'आधार' से जुड़े मामलों की सुनवाई करेगी। इसी के तहत सुप्रीम कोर्ट के नौ जजों की संवैधानिक बेंच ने 24 अगस्त को निजता के अधिकार को मूलभूत अधिकार बताते हुए कहा था कि यह संविधान में प्रदत्त स्वतंत्रताओं और अनुच्छेद 21 के तहत दिए गए जीवन एवं निजी स्वतंत्रता के अधिकार के अहम अंग के रूप में संरक्षित है।

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

Similar News
'आधार' को सरकारी योजनाओं से लिंक करने की डेडलाइन बढ़ी

'आधार' को सरकारी योजनाओं से लिंक करने की डेडलाइन बढ़ी

जल्द कराएं आधार को पैन से लिंक, वरना हो सकती हैं ये परेशानियां

जल्द कराएं आधार को पैन से लिंक, वरना हो सकती हैं ये परेशानियां

कहीं आपका AADHAAR 'डिएक्टिवेट' तो नहीं हो गया ? यहां जानिए कैसे पता करें...

कहीं आपका AADHAAR 'डिएक्टिवेट' तो नहीं हो गया ? यहां जानिए कैसे पता करें...

स्टूडेंट्स और रसोइयों को 20 अगस्त तक बनवाना होगा आधार कार्ड

स्टूडेंट्स और रसोइयों को 20 अगस्त तक बनवाना होगा आधार कार्ड

जीवन और मरण का सुबूत बना 'Aadhaar'

जीवन और मरण का सुबूत बना 'Aadhaar'

सरकारी विभाग में आधार नामांकन केंद्र लगाना अनिवार्य

सरकारी विभाग में आधार नामांकन केंद्र लगाना अनिवार्य

अब बैंक परिसर के अन्दर खुलेगा 'यूआईडीएआई' सेन्टर

अब बैंक परिसर के अन्दर खुलेगा 'यूआईडीएआई' सेन्टर

अब निजी एजेंसियां नहीं बना पाएंगी आधार

अब निजी एजेंसियां नहीं बना पाएंगी आधार

आधार से जुड़े मुद्दों पर सुनवाई के लिए गठित हो संवैधानिक बेंच : सुप्रीम कोर्ट

आधार से जुड़े मुद्दों पर सुनवाई के लिए गठित हो संवैधानिक बेंच : सुप्रीम कोर्ट

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

FOLLOW US ON