Dainik Bhaskar Hindi

बैठक में पर्यवेक्षक को किया जातिगत रूप से अपमानित, विरोध में 252 आंगनबाड़ी केन्द्र बंद

बैठक में पर्यवेक्षक को किया जातिगत रूप से अपमानित, विरोध में 252 आंगनबाड़ी केन्द्र बंद

डिजिटल डेस्क बालाघाट। महिला और बाल विकास विभाग परियोजना लालबर्रा की बैठक में एक पर्यवेक्षक को 15 मिनट की देरी से पहुंचना इतना कष्टदायक रहा कि बैठक में अन्य लोगों की मौजूदगी में परियोजना अधिकारी ने ना केवल उससे अभद्रतापूर्वक व्यवहार किया बल्कि उसे जातिगत रूप से भी अपमानित किया। जिसको लेकर लालबर्रा परियोजना की सभी 4 पर्यवेक्षक और 252 आंगनबाड़ी केन्द्र की कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने मोर्चा खोल दिया है।

इस मामले में पर्यवेक्षक और कार्यकर्ता, सहायिकाओं ने जिला मुख्यालय पहुंचकर जिला प्रशासन, महिला औरबाल विकास विभाग सहित पुलिस औरअजाक्स थाने में शिकायत की है। जिसमें मांग की गई है कि परियोजना अधिकारी निर्मलसिंह ठाकुर को तत्काल वहां से हटाया जाए और उसके खिलाफ महिला के साथ अभद्रता करने औरजातिगत रूप से अपमानित करने का मामला दर्ज कर कानूनी कार्यवाही की जाये। इसी मामले को लेकर परियोजना की सभी पर्यवेक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाए कार्यवाही नहीं होने तक परियोजना कार्यालय के सामने काम बंद कर धरने पर बैठ गई है।

परियोजना अधिकारी पर अभद्रता और जातिगत अपमान का आरोप
जिला मुख्यालय पहुंची पीडि़ता पर्यवेक्षक श्रीमती सुषमा चौबे ने आरोप लगाया है कि लालबर्रा परियोजना अधिकारी निर्मलसिंह ठाकुर द्वारा बैठक 6 सितंबर को सेक्टर मोहगांव के बेलगांव में थी। दोपहर 1 बजे आयोजित इस बैठक में वह 15 मिनट की देरी से पहुंची थी। जिस पर परियोजना अधिकारी निर्मलसिंह ठाकुर ने उसके साथ अभद्रतापूर्वक बात करते हुए उसे नीच जाति का कहकर जातिगत रूप से अपमानित किया। जिससे मुझे गहरा आघात लगा है।

LIFE STYLE

FOLLOW US ON