Dainik Bhaskar Hindi

JNU में कई फौजियों के बच्चे हैं स्टूडेंट

JNU में कई फौजियों के बच्चे हैं स्टूडेंट

डिजिटल डेस्क, नईदिल्ली। देश दुनिया में चर्चित जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव में प्रेसिडेंट का चुनाव जीती लेफ्ट गठबंधन की गीता कुमारी एक फाौजी की बेटी हैं। उन्होंने राष्ट़वाद को लेकर कैंपेन चलाने वाली एबीवीपी की निधि त्रिपाठी को 464 वोट से हराया। 

गीता कुमारी हरियाणा के पानीपत की रहने वाली हैं। उनके पिता भारतीय सेना में हैं और जोधपुर में तैनात हैं। खुद गीता ने इलाहाबाद और गुवाहाटी के आर्मी स्कूल से पढ़ाई की है। गीता के दोस्तों का कहना है कि बीजेपी से जुडे लोग राष्ट्रवादलोग का दिखावा करते हैं, लेकिन जेएनयू में ऐसे कई स्टूडेंट हैं जिनके पिता सेना य एयरफोर्स में हैं, लेकिन वे इसका दिखावा नहीं करते। गीता ने 2011 में जेएनयू में बीए कोर्स में एडमिशन लिया। इस दौरान वो दो बार स्कूल ऑफ लैंगुएज की काउंसलर रहीं। गीता जेएनयू की जेंडर सेंसेटाइजेशन कमेटी का चुनाव भी जीती। गीता ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (AISA) की मेंबर हैं। अभी गीता स्कूल ऑफ सोशल साइंस से एम.फिल कर रही हैं. मॉर्डन हिस्ट्री में सेकेंय ईयर की स्टूडेंट हैं। गीता राजनीतिक तजुर्बे के लिहाज से सभी उम्मीदवारों में सबसे सीनियर थीं. 2012 में दिल्ली में हुए निर्भया कांड के बाद जेएनयू छात्रों ने जो बड़ा आंदोलन खड़ा किया, उसमें गीता ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 

Similar News
भोपाल में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक, तीन तलाक और राम मंदिर मुद्दों पर चर्चा

भोपाल में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक, तीन तलाक और राम मंदिर मुद्दों पर चर्चा

JNU में कई फौजियों के बच्चे हैं स्टूडेंट

JNU में कई फौजियों के बच्चे हैं स्टूडेंट

फिर टूटा ABVP का सपना, 464 वोटों से जीतीं लेफ्ट की 'गीता'

फिर टूटा ABVP का सपना, 464 वोटों से जीतीं लेफ्ट की 'गीता'

झोपड़ी में मिलती है कंडोम, यहां ऐसे रिलेशन बनाते हैं टीनएजर्स

झोपड़ी में मिलती है कंडोम, यहां ऐसे रिलेशन बनाते हैं टीनएजर्स

भारत के ऐतराज के बावजूद, चीन बनाएगा पाकिस्तान तक आर्थिक गलियारा

भारत के ऐतराज के बावजूद, चीन बनाएगा पाकिस्तान तक आर्थिक गलियारा

LIFE STYLE

FOLLOW US ON