Dainik Bhaskar Hindi

राजा रवि वर्मा आर्ट गैलरी में लटका ताला

राजा रवि वर्मा आर्ट गैलरी में लटका ताला

डिजिटल डेस्क, नागपुर। देशभर के 7 केंद्रों में संस्कृति मंत्रालय का एक दक्षिण-मध्य सांस्कृतिक केंद्र नागपुर में है और अब यहां स्थित राजा रवि वर्मा आर्ट गैलरी का नामोनिशान मिटने की कगार पर है। 1991 से 2017 तक केंद्र की ओर लोकनिर्माण विभाग का 1 करोड़ रुपए बकाया हो चुका है। सिविल लाइंस इलाके में डॉ. वसंतराव देशपांडे स्मृति सभागृह के ग्राउंड फ्लोर पर राजा रवि वर्मा आर्ट गैलरी है और जिस इमारत में यह गैलरी है, वह लोकनिर्माण विभाग की है। 1990 में यह इमारत का ग्राउंड फ्लोर दक्षिण-मध्य सांस्कृतिक केंद्र को आर्ट गैलरी संचालित करने के लिए दिया गया था, लेकिन इसके बदले लोकनिर्माण विभाग को किराया नहीं मिल रहा। 

बीते 25 साल में नहीं दिया किराया

किराया नहीं मिलने से लोकनिर्माण विभाग आर्ट गैलरी खाली करने की मांग कर रहा है। पिछले 2 वर्ष से गैलरी पर ताला जड़ा होने से यहां छायाचित्र प्रदर्शनी समेत अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम ठप हैं। दूसरी ओर दक्षिण-मध्य सांस्कृतिक केंद्र सरकार से यह मसला हल करने की बरसों से मांग कर रहा है, लेकिन सरकार इसके प्रति संवेदनशील नहीं है। गौरतलब है कि केंद्र ने बीते 25 सालों में लोकनिर्माण विभाग को एक रुपया भी किराया नहीं दिया है।

सरकार की चिलचस्पी नहीं

कला-संस्कृति को बढ़ावा देने के उद्देश्य से केंद्र सरकार के संस्कृति मंत्रालय ने 2 अक्टूबर 1986 को देश के सात सांस्कृतिक केंद्रों में से एक दक्षिण मध्य सांस्कृतिक केंद्र की सौगात नागपुर को दी थी। इसी के मद्देनजर दक्षिण मध्य सांस्कृतिक केंद्र को भारतीय चित्रकारी के महान कलाकार राजा रवि वर्मा के नाम आर्ट गैलरी शुरू करने के लिए सार्वजनिक लोकनिर्माण विभाग ने अपनी इमारत में कुछ शर्तों के साथ एक सभागृह दिया। हालांकि इस संबंध में विभाग और केंद्र के बीच कई बार पत्राचार हो चुका है। लेकिन सरकार इस विषय में दिलचस्पी नहीं दिखा रही।

LIFE STYLE

FOLLOW US ON