Dainik Bhaskar Hindi

मेघालय में पूर्व BJP नेताओं का बीफ फेस्ट

मेघालय में पूर्व BJP नेताओं का बीफ फेस्ट

टीम डिजिटल, नई दिल्ली. मेघालय में बीफ बैन विवाद गहराता जा रहा है. वध के लिए पशुओं की बिक्री पर बैन लगाने वाले केन्द्र सरकार के नए नोटिफिकेशन के बाद यहां बीजेपी में ही दो फाड़ हो चुकी है. हाल ही में मेघायल के कई बड़े नेता और सैकड़ों कार्यकर्ता केन्द्र सरकार के इस नए नोटिफिकेशन के विरोध में पार्टी से इस्तीफा दे चुके हैं. अब इन लोगों ने बीफ फेस्ट का आयोजन कर इस लड़ाई को और तेज कर दिया है.

यहां दो पूर्व बीजेपी नेताओं ने शनिवार को बीफ फेस्टिवल का आयोजन किया। इसमें सैकड़ों पूर्व कार्यकर्ता भी शामिल हुए। बीफ पार्टी बीजेपी से हाल ही में इस्तीफा देने वाले बर्नार्ड एन मारक ने रखी थी. उन्होंने इस आयोजन पर कहा कि अभी तो यह फेस्ट वेस्ट गारो हिल्स के जिला हेडक्वॉटर्स के टुरा में आयोजित किया गया था लेकिन आने वाले हफ्तों में पड़ोसी जिलों में भी इस तरह की पार्टियां आयोजित की जाएंगी. उन्होंने बताया कि पार्टी में 500 से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। बर्नार्ड ने आगे कहा, इस बीफ फेस्ट का मकसद यह बताना है कि बीफ खाना हमारा अधिकार है और इसका सभी को सम्मान करना चाहिए।

इससे पहले गुरुवार को पशु बाजार में वध के लिये पशुओं की बिक्री से संबद्ध केंद्र के प्रतिबंध के मुद्दे पर चर्चा के लिये बुलाये गये केरल विधानसभा के विशेष सत्र से पहले विधायकों ने कैंटीन में गर्मागरम बीफ खाया. केरल एक अलावा तमिलनाडु, कर्नाटक और कुछ उत्तर-पूर्वी राज्य पशुओं की अवैध बिक्री पर केंद्र द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के खिलाफ हैं. केरल में इसका व्यापक पैमाने पर विरोध हो रहा है.

Most Popular
LIFE STYLE

FOLLOW US ON