Dainik Bhaskar Hindi

'वन कंट्री वन इलेक्शन' चाहते हैं नकवी, कहा- विकास में आएगी तेजी

'वन कंट्री वन इलेक्शन' चाहते हैं नकवी, कहा- विकास में आएगी तेजी

डिजिटल डेस्क, पटना। केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने पटना में आयोजित एक पार्लियामेंटेरियन कॉन्क्लेव के दौरान देश में 'एक देश एक चुनाव' कराने की बात कही। जिसके लिए उन्होंने देश के बुद्धिजीवियों को आगे आकर इस विषय पर एक आम राय बनाने का अनुरोध किया है। नकवी ने इस तरह से चुनाव कराने पर होने वाले फायदों को गिनाते हुए कहा कि इस प्रकार देश में हो रही वोट बैंक की राजनीती पर लगाम कसी जा सकती है, और साथ ही विकास कार्यों की गति को भी बरकरार रखा जा सकता है।

नकवी ने अपनी बात रखते हुए कहा कि देश में हर 5 या 6 महीने पर किसी न किसी राज्य में चुनाव होते रहते हैं, जिसके कारन वहां का विकास कार्य कुछ दिनों के लिए रुक जाता है।  इन चुनावों से सरकार के खजान पर भी काफी बोझ पड़ता है। 

केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने अपने इस विचार की वकालत करते हुए कहा कि, 'हमें 'एक देश एक चुनाव', आदर्श चुनाव संहिता एवं जनप्रतिनिधित्व कानून में हो रहे सुधार को और आगे बढ़ाना होगा, जिसके लिए सभी राजनैतिक दलों, चुनाव आयोग और देश के तमाम बुद्धिजीवियों को आपस में बैठ कर इस विषय पर चर्चा कर आम राय बनाने की आवश्यकता है। इसके लिए उन्होंने इन सभी लोगों से आगे आकर आम राय बनाने का अनुरोध भी किया है। 

एक आकलन के हिसाब से चुनावों के कारण देश में 30 से 40 प्रतिशत विकास कार्य काफी समय के लिए पिछड़ जाता है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में एक साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराये जाने से हर साल चुनावों के खर्च में काफी कमी आएगी और साथ ही विकास की गति भी बराबर रहेगी।

Similar News
अब तक 1000 रोहिंग्या मुसलमानों की हत्या, 3 लाख पहुंचे बांग्लादेश

अब तक 1000 रोहिंग्या मुसलमानों की हत्या, 3 लाख पहुंचे बांग्लादेश

स्वतंत्रता दिवस पर पाक PM बोले- सीमा पर तनाव के लिए भारत जिम्मेदार

स्वतंत्रता दिवस पर पाक PM बोले- सीमा पर तनाव के लिए भारत जिम्मेदार

पाक संसद में शाहिद अब्बासी चुने गए अंतरिम प्रधानमंत्री

पाक संसद में शाहिद अब्बासी चुने गए अंतरिम प्रधानमंत्री

केंद्रीय मंत्री की औपचारिकता, बाहर से मंगाकर खाया आदिवासी के घर खाना

केंद्रीय मंत्री की औपचारिकता, बाहर से मंगाकर खाया आदिवासी के घर खाना

अल्पसंख्यक लड़कियों की शादी में केन्द्र से मिलेगा 51 हजार का 'शगुन'

अल्पसंख्यक लड़कियों की शादी में केन्द्र से मिलेगा 51 हजार का 'शगुन'

LIFE STYLE

FOLLOW US ON