Thursday, June 29, 2017
  • Follow us on:

मुंबई बम ब्लास्ट केस: अबु सलेम, दौसा सहित 6 दोषी करार, कय्यूम बरी


Dainik Bhaskar News Desk

Updated June 16, 2017 09:03 am


टीम डिजिटल, मुंबई.  मुंबई को दहला देने वाले 1993 सीरियल ब्लास्ट मामले में शुक्रवार को विशेष टाडा कोर्ट ने गैंगस्टर अबू सलेम सहित 6 आरोपियों को दोषी करार दिया है. जबकि एक आरोपी अब्दुल काय्यूम को बरी कर दिया गया है. मामले में कोर्ट ने अबू सलेम समेत मुस्तफा डोसा, फिरोज अब्दुल रशीद खान, ताहिर मर्चेंट, करीमुल्ला खान व रियाज सिद्दीकी को दोषी करार दिया है. वहीं कोर्ट ने अब्दुल कय्यूम को 1993 के मुंबई बम धमाकों के मामले में सभी आरोपों से बरी कर दिया गया है. अब्दुल क़य्यूम पर संजय दत्त को हथियार पहुंचाने का आरोप था.

दौसा पर आरोप है कि उन्होंने बम धमाकों में लगने वाले एक्सप्लोसिव और गोला बारूद मुंबई में समुद्र के किनारे उतारे थे. दौसा को 2003 में दुबई से प्रत्यर्पित किया गया था. हालांकि कोर्ट में दौसा ने बयान दिया था कि वो ख़ुद ही वापस आया है, ताकि ख़ुद पर लगे आरोपों को ग़लत साबित कर सके.

सलेम को कोर्ट ने साजिश में शामिल होने का दोषी पाया. अबू सलेम पर हथियारों और धमाके के सामान को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने के आरोप हैं. इसके अलावा संजय दत्त को हथियार पहुंचाने का आरोप भी सलेम पर ही है. वहीं रियाज सिद्दीकी को भी दोषी करार दिया गया है. रियाज पर आरोप थे कि वो आरडीएक्स से भरी मारुति वैन चला कर गुजरात के भरुच इलाके में ले गए और वो गाड़ी अबू सालेम के हवाले कर दी.

unnamed (5)

अबू सलेम के बाद मुस्तफा दौसा को पाया गया सबसे बड़ा आरोपी

ये 4 मुख्य साजिशकर्ता
मुंबई बम ब्लास्ट मामले में यूं तो सात आरोपियों पर फैसला सुना रही है लेकिन टाडा कोर्ट ने मुस्तफा दौसा,अबू सलेम,ताहिर मर्चेंट और फिरोज खान को 1993 मुंबई बम ब्लास्ट के मुख्य साजिशकर्ता बनाया है. इन सभी पर कई धाराओं के तहत आरोप तय हुए हैं.

unnamed (6)

257 लोगों की हुई थी मौत
12 मार्च 1993 में महानगर में हुए बम धमाके में 257 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 713 लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे. धमाके में 27 करोड़ रुपए संपत्ति नष्ट हुई थी. मामले में सौ लोगों को दोषी पाया गया था. मामले में कई लोगों को आजीवन कारावास तो कई दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई थी. इस मामले में अभी भी 27 आरोपी फरार है.

संजय दत्त पर भी लगे थे आरोप
सलेम ने अवैध रूप से अभिनेता संजय दत्त को ए के 56 राइफलें, 250 कारतूस और कुछ हथगोले 16 जनवरी 1993 को उनके आवास पर उन्हें सौंपे थे. दो दिन बाद 18 जनवरी 1993 को सलेम और दो अन्य दत्त के घर गए और वहां से दो राइफलें तथा कुछ गोलियां लेकर वापस आए थे.

दाऊद इब्राहिम अभी भी फरार
मुंबई बम धमाकों में आरोपी मुस्तफा डोसा और अबू सालेम सहित रियाज सिद्दीकी, करिमुल्ला खान, फिरोज अब्दुल राशिद, ताहिर मर्चेंट, अब्दुल कैयूम के खिलाफ सीबीआई ने चार्जशीट दर्ज कर टाडा कोर्ट में मामला चलाया था. इन धमाकों के बाद अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम, टायगर मेमन, अबू सलेम, मुस्तफा डौसा को फरार घोषित किया था. 30 जुलाई, 2015 को मुंबई धमाकों के एक केस में याकूब मेमन को फांसी हुई थी. इन धमाकों के मुख्य आरोपी दाऊद इब्राहम को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है.


ट्रेंडिंग न्यूज़