Dainik Bhaskar Hindi

म्यांमार में हिंसा भड़की, 400 लोगों की हुई मौत, बच्चों पर भी सेना चला रही गोली

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। म्यांमार में मुसलमानों के लिए हालात खराब होने के बाद मुस्लिम  समुदायों के लोग दे छोड़ कर पड़ोसी देश बांग्लादेश की शरण ले रहे हैं। ऐसे में बांग्लादेश सीमा पर हालात बेकाबू हो गए है। सीमा पर बड़ी तादात में सेना तैनात कर दी गई है, जो सीमा पार करने वालों पर फायरिंग कर रही है।

उल्लेखनीय है कि म्यांमार में 25 अगस्त से फैली हिंसा ने प्रचंड रूप ले लिय है। देश में रोहिंग्या मुसलमान और सुरक्षाबलों के बीच हुए संघर्ष में अब तक 400 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। सोमवार को संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि 25 अगस्त के बाद म्यांमार से करीब 90,000 शरणार्थी बांग्लादेश पहुंचे हैं। इनमें ज्यादातर रोहिंग्या हैं। संघर्ष के बाद से हजारों मुस्लिम अल्पसंख्यक म्यांमार से भाग कर सीमा पर पहुंच गए हैं। करीब 20,000 लोग बांग्लादेश एवं म्यांमार के पश्चिमी प्रांत राखीन की सीमा पर पहुंचे हैं। बांग्लादेश में घुसने के इंतजार में हैं। करीब पांच सौ हिंदू भी कॉक्स बाजार पहुंचे हैं।

हिंसा में सेना ने रोहिंग्या मुसलमानों के 1,200 घरों को तोड़ दिया गया। 700 घरों को आग के हवाले कर दिया गया है। हिंसा से बचकर भागे चश्मदीदों ने बताया कि पश्चिमी राखीन राज्य में बार्म की सेना और पैरामिलिटरी फोर्स बच्चों को भी गोली मार रही है। 

वहीं सेना ने कहा है कि विद्रोहियों का सफाया करने के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है। म्यांमार के सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल न्यू लाइट ने कहा कि लगभग 150 से ज्यादा रोहिंग्या हमलावरों ने गुरुवार को हिन्दू बहुल गांवों के पास सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया था। उस दौरान 700 से अधिक निवासियों को वहां से निकाला गया हैं। 

बांग्लादेश ने सीमा पर बढ़ायी पाबंदियां

म्यांमार में दस दिन पहले शुरू हुई नए दौर की हिंसा के बाद बांग्लादेश अपनी सीमा पर पाबंदियां बढ़ा दी है। सुरक्षा बलों ने म्यांमार से भागकर बांग्लादेश के सेंट मार्टिना द्वीप पर पहुंचे 2,000 से अधिक शरणार्थियों को भगा दिया।

मुस्लिम रोहिंग्या समुदाय की कवरेज को लेकर हुए विवाद के बीच बीबीसी बर्मा ने लोकप्रिय म्यांमार टीवी (एमएनटीवी) के साथ प्रसारण संधि को तोड़ दी है. एमएनटीवी पर अप्रैल, 2014 के बाद से बीबीसी बर्मीज एक दैनिक समाचार कार्यक्रम प्रसारित करता रहा है। इस कार्यक्रम को रोजाना 37 लाख दर्शक देखते हैं. बीबीसी ने कहा कि एमएनटीवी ने इस साल मार्च के बाद से कई कार्यक्रमों को रोका है या उन्हें सेंसर किया है. इसलिए वह उसके साथ अपनी संधि खत्म कर रहा है।
 

Similar News
हरियाणा मामले पर बोले PM मोदी- आस्‍था के नाम पर हिंसा बर्दाश्‍त नहीं

हरियाणा मामले पर बोले PM मोदी- आस्‍था के नाम पर हिंसा बर्दाश्‍त नहीं

राम रहीम केस : हिंसा भड़काने के आरोप में 6 सुरक्षाकर्मियों पर देशद्रोह का केस

राम रहीम केस : हिंसा भड़काने के आरोप में 6 सुरक्षाकर्मियों पर देशद्रोह का केस

पांच राज्यों में फैली हिंसा, 30 की मौत, सैकड़ों वाहन खाक

पांच राज्यों में फैली हिंसा, 30 की मौत, सैकड़ों वाहन खाक

घाटी में हिंसा रुके, तभी बातचीत मुमकिन: सुप्रीम कोर्ट

घाटी में हिंसा रुके, तभी बातचीत मुमकिन: सुप्रीम कोर्ट

15 अगस्त पर हिंसा से आजादी, मणिपुर में 68 उग्रवादियों ने डाले हथियार

15 अगस्त पर हिंसा से आजादी, मणिपुर में 68 उग्रवादियों ने डाले हथियार

तिरुवनंतपुरम में हिंसा पर बोले जेटली, 'ऐसी हरकत दुश्मन देश भी नही करता'

तिरुवनंतपुरम में हिंसा पर बोले जेटली, 'ऐसी हरकत दुश्मन देश भी नही करता'

LIFE STYLE

FOLLOW US ON