Dainik Bhaskar Hindi

नमाज अता करने के ये फायदे नहीं जानते होंगे आप

नमाज अता करने के ये फायदे नहीं जानते होंगे आप

डिजिटल डेस्क, भोपाल। सभी धर्म के लोग अपने भगवान की पूजा-अर्चना करते हैं। धर्म में सबसे अच्छी बात यही है कि इसमें कोई भी बात हवा में नहीं कही गई है। जबकि इसके पीछे Scientific Reason होता है। इसी तरह से नमाज अता करने के भी कई फायदे हैं। जब आप नमाज पढ़ने के लिए बैठते हैं, तो इससे आपके शरीर को भी कई तरह के फायदे होते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं नमाज पढ़ने के कुछ ऐसे ही फायदों के बारे में।

niyat

नियात- जब आप नमाज पढ़ने के लिए पहली पोजीशन में आते हैं, तो इसका सीधा-सीधा असर आपके शरीर पर पड़ता है। छाती के बीचो-बीच हाथ रखने से हार्ट, लंग्स और सर्कुलेटरी सिस्टम कंट्रोल में रहता है।

ruku

रुकू- ये पोजीशन अर्ध-उत्तानासन की तरह ही होती है। इस पोजीशन में आते ही आपकी पीठ की मांसपेशियां फ्लेक्सिबल होती हैं, साथ ही पेट के ऑर्गन्स भी अच्छे रहते हैं। इसके अलावा आगे झुकने से किडनी भी ठीक तरह से काम करती है और ब्लड सर्कुलेशन भी सही बना रहता है।

 

 

sajda

सजदा- इस पोजीशन में आप जैसे ही अपने पैरों को पीछे की तरफ मोड़कर बैठते हैं, तो ये एक तरह से वज्रासन की तरह होता है। इस पोजीशन में बैठने से डाइजेस्टिव सिस्टम ठीक रहता है और आपके शरीर के निचले हिस्से की अच्छी तरह से मालिश भी हो जाती है। साथ ही घुटनों के बल झुकने से इसके कार्टिलेज भी लचीले रहते हैं।

namaz ki last stage

लास्ट पोजिशन- नमाज अता होते ही लास्ट में व्यक्ति खड़े होकर अपने सिर को दांई और बांई ओर घुमाता है, जिससे पूरे शरीर को आराम मिलता है और आप रिलेक्स फील करते हैं।

Most Popular
LIFE STYLE

FOLLOW US ON