Dainik Bhaskar Hindi

'दूध के धुले नहीं हैं' नीतीश की कैबिनेट के मंत्री, 76 फीसदी पर आपराधिक मामले

'दूध के धुले नहीं हैं' नीतीश की कैबिनेट के मंत्री, 76 फीसदी पर आपराधिक मामले

डिजिटल डेस्क,पटना। जीरो टॉलरेंस की नीति को अपनाने के नाम पर लालू प्रसाद यादव के साथ गठबंधन तोड़ बीजेपी के साथ बिहार में दोबारा सरकार बनाने वाले नीतीश कुमार की नई कैबिनेट के मंत्री भी दूध के धुले नहीं है। ADR के आंकड़ों के मुताबिक नीतीश कुमार की कैबिनेट में 76 % मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक नीतीश कुमार की नई कैबिनेट के 29 में से 22 मंत्री आपराधिक मामलों में आरोपी हैं।

नीतीश कुमार के नए कैबिनेट के 22 मंत्रियों में से 9 मंत्रियों ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामलों का जिक्र किया है। इतना ही नहीं जेडीयू से नीतीश कैबिनेट के दो मंत्रियों के खिलाफ हत्या की कोशिश में धारा 307 के तहत मामले दर्ज हैं। कई मंत्रियों के खिलाफ डकैती, चोरी, धोखाधड़ी, और महिलाओं के खिलाफ हिंसा जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं। नीतीश की कैबिनेट में 21 मंत्री यानी लगभग 72 % मंत्री करोड़पति हैं। चुनाव आयोग में दाखिल किए गए हलफनामे के मुताबिक नीतीश कुमार के कुल मंत्रियों की औसत संपत्ति लगभग 2.46 करोड़ है।

ADR के ये रिपोर्ट तब सामने आई है जब आरजेडी नीतीश सरकार पर हमले पर हमला कर रही है। मंगलवार को आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कर नीतीश को दल बदलू बता दिया था। ऐसे में ADR की रिपोर्ट ने लालू को नीतीश पर हमला करने का एक और मौका दे दिया है।

LIFE STYLE

FOLLOW US ON