Dainik Bhaskar Hindi

जब कलेक्टर और अफसर-कर्मचारी साइकिल से पहुंचे ऑफिस

डिजिटल डेस्क, अकोला। अकोला के कलेक्टर आस्तिक कुमार पाण्डेय ने हर माह की पहली तारीख को सभी अधिकारी व कर्मचारियों को अपने निजी वाहनों की जगह साइकिल से दफ्तर आने के निर्देश दिए हैं। मंगलवार को कलेक्टर समेत सभी शासकीय दफ्तरों के अधिकारी, कर्मचारी साइकिल पर दफ्तर पहुंचे।

वाहनों की बढ़ती भीड़ के कारण बढ़ रहे प्रदूषण पर नियंत्रण, र्इंधन बचत तथा शारीरिक व्यायाम का नया विकल्प देने के उद्देश्य से यह आदेश दिया गया है।  प्रदूषण रोकने के लिए साइकिल चलाने का नया प्रयोग कलेक्टर महोदय ने आरंभ किया है। पर्यावरण की रक्षा के साथ ही ईंधन बचत के लिए कलेक्टर दफ्तर अंतर्गत आने वाले जिले के सभी अधिकारी व कर्मचारी हर महीने के पहले दिन पर एक दिन साइकिल से दफ्तर आएंगे। दुपहिया व चार पहिया वाहनों के कारण जहां शारीरिक व्यायाम नहीं हो पाता, वहीं ईंधन का खर्च भी बढ़ता है। इस उपक्रम के तहत मंगलवार को स्वयं कलेक्टर साइकिल से दफ्तर पहुंचे। उनके साथ अन्य अधिकारी, कर्मचारी भी साइकिल पर आए।

बैलगाड़ी पर सवार हुए कलेक्टर

शासकीय योजनाओं को जनता तक सुलभता से पहुंचाने के उद्देश्य से जिला प्रशासन प्रयासरत रहता है। मंगलवार राजस्व दिन के उपलक्ष्य में स्वयं कलेक्टर किसान के परिवेश में अकोला तहसील के ग्राम चांदूर में साइकिल से पहुंचे, उनके साथ अधिकारी, कर्मचारी भी थे। इस दौरान बैलगाड़ी पर सवार होकर कलेक्टर आस्तिक कुमार पाण्डेय ने किसानों को जागरूक किया। साथ ही उन्होंने किसानों से सीधे संवाद कर उनकी समस्याओं को सुना।

Similar News
जब कलेक्टर और अफसर-कर्मचारी साइकिल से पहुंचे ऑफिस

जब कलेक्टर और अफसर-कर्मचारी साइकिल से पहुंचे ऑफिस

डच पीएम ने मोदी को दी साइकिल

डच पीएम ने मोदी को दी साइकिल

साइकिल से Parliament पहुंचे डॉ. महात्मे

साइकिल से Parliament पहुंचे डॉ. महात्मे

World Environment Day: 1973 में इस कांसेप्ट के साथ हुई थी शुरुआत

World Environment Day: 1973 में इस कांसेप्ट के साथ हुई थी शुरुआत

FOLLOW US ON