•  21.1°C  Partly cloudy
Dainik Bhaskar Hindi

Home » International » Pakistan's biggest bank kicked out of US fined over terror financing charge

पाकिस्तान के हबीब बैंक पर अमेरिका ने कसी नकेल, बंद करने के आदेश

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 08th, 2017 16:03 IST

पाकिस्तान के हबीब बैंक पर अमेरिका ने कसी नकेल, बंद करने के आदेश

डिजिटल डेस्क, न्यूयार्क। अमेरिका ने पाकिस्तान पर टेरर फंडिंग मामले में नकेल कसने की पूरी तैयारी कर ली है। अमेरिका ने पाक के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक 'हबीब' को बंद करने के आदेश दे दिए हैं। हबीब बैंक करीब 40 सालों से अमेरिका में काम कर रहा है। गुरुवार को अधिकारियों ने बताया कि बैंक पर टेरर फंडिंग और मनी लांड्रिंग की वजह से यह कार्रवाई की गई है। 

अधिकारियों ने बताया कि न्यूयार्क के डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विस (डीएफएस) ने बैंक पर नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में तकरीबन 1400 करोड़ यानि 225 मिलियन का जुर्माना भी लगाया है। डीएफएस न्यूयार्क में विदेशी बैंकों को संचालन के लिए अनुमति देता है। 

हबीब बैंक अमेरिका में 1978 से संचालन कर रहा है, और 2006 में इसे आदेश दिया गया था कि वह अवैध लेनदेन का निरीक्षण करे लेकिन बैंक ने आदेशों का पालन नहीं किया। न्यूयॉर्क रेग्यूलेटर के मुताबिक हबीब ने सऊदी निजी बैंक, अल रजी बैंक के साथ अरबों डॉलर का लेनदेन किया, जो कथित रूप से अल कायदा से जुड़ा हुआ है और यह सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं किए कि कहीं पैसों का इस्तेमाल आतंकवाद गतिविधियों के लिए तो इस्तेमाल नहीं किया गया।


डीएफएस की अधीक्षक मारिया वुल्लो ने एक प्रेस रिलीज़ जारी कर कहा, 'डीएफएस ऐसे कार्यों को बिल्कुल बर्दाशत नहीं करेगा जो आतंकवादी गतिविधियों के वित्तपोषण के लिए दरवाजा खोलते हैं और जो राज्य के लोगों और वित्तीय व्यवस्था के लिए एक गंभीर खतरा है।' उन्होंने कहा, 'बैंक को बार-बार अपनी ओर से हुई कमियों को दूर करने के लिए पर्याप्त मौके भी दिए गए, फिर भी ऐसा करने में वो असफल रहा है।'

'हबीब' पर पाबंदी पाकिस्तान के लिए बड़ा झटका 
हबीब बैंक पर प्रतिबंध पाकिस्तान के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। पाकिस्तान की सबसे बड़े व्यवसायिक बैंक के कामकाज सवाल उठने लगे हैं। इसका असर वहां के शेयर बाजार पर पड़ सकता है. वहीं कारोबारी माहौल को नुकसान पहुंच सकता है।

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

FOLLOW US ON