•  16°C  Mist
Dainik Bhaskar Hindi

Home » National » pm modi inaugurated br ambedkar international centre today

मोदी ने फिर कसा राहुल पर तंज , 'उन्हें बाबा भोले ज्यादा याद आ रहे हैं'

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 07th, 2017 13:05 IST

मोदी ने फिर कसा राहुल पर तंज , 'उन्हें बाबा भोले ज्यादा याद आ रहे हैं'

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राजधानी दिल्ली में डॉ. अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर का उद्घाटन किया। अम्बेडकर अंतर्राष्ट्रीय केंद्र यानी डीएआईसी का निर्माण लगभग 192 करोड़ रुपए की लागत से किया गया है। पीएम ने उद्घाटन अवसर पर कहा कि सरकार बाबा साहेब के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों को तीर्थ के रूप में विकसित कर रही है। वहीं राहुल गांधी पर पीएम मोदी ने एक बार फिर  तंज  कसा।


भीम एप बाबा साहेब को श्रद्धांजलि

पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि अम्बेडकर अंतर्राष्ट्रीय केंद्र युवाओं के लिए वरदान की तरह है। इस केंद्र की मदद से नई पीढ़ी को बाबा साहेब के विजन को समझने में मदद मिलेगी। पीएम ने कहा कि इस देश में सालों तक बाबा साहेब के विचारों को दबाने की कोशिश की गई। राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को भुलाने की कोशिश हुई, परे ऐसे लोग बाब साहेब को जनमानस की भावना से हटा नहीं पाए। पीएम ने भीम एप को सरकार की ओर से बाबा साहेब को श्रद्धांजलि बताया। पीएम ने कहा कि यह एप गरीबों, दलितों, शोषितों के लिए वरदान बनकर आया है।

राहुल गांधी पर कसा तंज

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान एक बार फिर कांग्रेस उपाध्यक्ष पर हमला बोला। राहुल गांधी का नाम लिए बगैर मोदी ने कहा कि जो राजनीतिक दल बाबा साहब का नाम लेकर राजनीति करते हैं, उन्हें अब बाबा साहब नहीं, बाबा भोले ज्यादा याद आ रहे हैं।

करोड़ों परिवारों को दिए फ्री में बिजली कनेक्शन

मोदी ने  ये भी कहा कि स्वच्छता अभियान के तहत देश के ज्यादातर गांव में शौचालय बनाए जा रहे हैं। वहीं उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना शुरू की है। इस योजना के तहत देश के 4 करोड़ घरों में बिजली कनेक्शन मुफ्त में दिया। जो घर 21वीं शताब्दी में 18वीं सदी में जीने के लिए मजबूर हैं, हम उन्हें उबारने का काम करेंगे।

3.25 एकड़ में हुआ है डीआईएसी का निर्माण

डीआईएसी सेंटर का निर्माण 3.25 एकड़ में किया गया है। डीआईएसी को एक उत्कृष्ट केंद्र में विकसित करने के लिए इस भवन को एक वृहत पुस्तकालय, तीन अत्याधुनिक सभागारों, बैठने की अलग-अलग क्षमता वाले तीन सम्मेलन कक्षों और प्रदर्शनी क्षेत्रों से सुसज्जित किया गया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने डीआईएसी सेंटर की आधारशिला 20 अप्रेल 2015 में रखी थी। जनवरी 2018 तक इसे तैयार किया जाना था लेकिन अपने तय समय से दो महीने पहले ही सेंटर को तैयार कर दिया गया।

डीएआईसी में परामर्शदात्री शाखा और मीडिया शाखा भी बनाई गई है. यह केंद्र क्षेत्रीय हस्तेक्षेपों का प्रस्ताव करेगा और परामर्श देगा. साथ ही अनुसंधान रिपोर्ट, नीतिपरक संक्षिप्त लेखों को उपलब्ध कराएगा और कार्यशालाएं और सम्मेलन आयोजित करेगा।
 

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

FOLLOW US ON