Dainik Bhaskar Hindi

पीएम मोदी की दावत में स्पेशल गेस्ट होंगे 'नीतीश', क्या हैं नजदीकियों के मायने

पीएम मोदी की दावत में स्पेशल गेस्ट होंगे 'नीतीश', क्या हैं नजदीकियों के मायने

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के लिए फेयरवेल पार्टी रखी है। इसमें बिहार के सीएम नीतीश कुमार को खासतौर पर न्यौता भेजा गया है। राजनीतिक गलियारों में इस मुलाक़ात को लेकर अभी से कयास लगाये जाने लगे हैं कि नीतीश और मोदी की बढ़ती नजदीकियां क्या रंग लाएंगी।आर्थिक पंडित इस मुलाक़ात का विश्लेषण अपनी-अपनी नजर से कर रहे हैं, लेकिन इससे लालू की मुश्किलें बढ़ने के साथ-साथ ही महागठबंधन पर भी काले बदल साफ़ नजर आ रहे हैं। बीजेपी की मंशा ' मिशन 2019 लोकसभा' चुनाव हैं, जिसके लिए पार्टी हर स्तर पर तैयारी कर रही है और वह सधता दिख रहा है।

बहरहाल इस मुलाक़ात के मायने जो भी हों इतना तो साफ़ है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें भी इससे बढ़ सकती हैं, क्योंकि वह बीजेपी से आगामी लोकसभा चुनावों में लड़ने की तैयारी महागठबंधन की राजनीति के दम पर ही कर रहे हैं। ऐसे में यदि तमाम विपक्षी पार्टियों के सहयोग से बना महागठबंधन टूटता है, तो उन्हें दिक्कत पेश आ सकती है।

जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव के सी त्यागी ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा कि सीएम नीतीश राष्ट्रपति के सम्मान में पीएम मोदी की ओर से शनिवार को दी जा रही फेयरवेल डिनर में शामिल होने दिल्ली जाएंगे। राष्ट्रपति के विदाई पार्टी दिल्ली के हैदराबाद हाउस में रखी गई है। इस विदाई पार्टी में नीतीश कुमार विपक्ष के एकलौते सीएम होंगे जो पीएम मोदी की ओर से दावत में शामिल होंगे।

नीतीश का फेयरवेल में जाना इस लिए भी चर्चा में है,क्योंकि बिहार में सत्तारूढ़ महागठबंधन के बीच दूरियां बढ़ रहीं हैं और नीतीश की मोदी से मेलजोल बढ़ रहा है। दोनों के बीच बढ़ती नजदीकियों से राजनीतिक गलियों में कई चर्चाएं हो रहीं हैं और कयासों का दौर चल पड़ा है।

शुक्रवार देर शाम तक अधिकतर मुख्यमंत्रियों का कहना था कि डिनर में शामिल होने के लिए उनका राजधानी आने का कोई क्रार्यक्रम नहीं है। दूसरी तरफ कुछ का कहना है कि उन्हें अभी तक निमंत्रण नहीं प्राप्त हुआ है। नीतीश कुमार के अलावा जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू भी डिनर में शामिल हो सकते हैं। ये दोनों पार्टियां ही एनडीए में बीजेपी की सहयोगी हैं।

 

Most Popular
LIFE STYLE

FOLLOW US ON