Dainik Bhaskar Hindi

SC का फैसला महिला सशक्तिकरण की दिशा में मजबूत कदम : मोदी

SC का फैसला महिला सशक्तिकरण की दिशा में मजबूत कदम : मोदी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ट्रिपल तलाक मामले में लंबी लड़ाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने आखिरकार मुस्लिम महिलाओं के हक में फैसला सुनाते हुए इसे असंवैधानिक घोषित कर दिया है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ट्रिपल तलाक पर 6 महीने की रोक लगाते हुए केंद्र सरकार से संसद में कानून बनाने के लिए कहा है। इस मामले में पीएम नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से लेकर कांग्रेस नेताओं और मुस्लिम धर्मगुरुओं के रिएक्शन सामने आए हैं। आगे पढ़िए किसने क्या कहा...

  • पीएम नरेंद्र मोदी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए ट्वीट करके कहा, 'माननीय सुप्रीम कोर्ट का ट्रिपल तलाक पर फैसला ऐतिहासिक है। यह मुस्लिम महिलाओं को समानता का अधिकार देता है और महिला सशक्तिकरण की दिशा में मजबूत कदम है।'
  • अमित शाह ने बयान जारी करते हुए कहा कि मुस्लिम महिलाओं के लिए स्वाभिमान पूर्ण एवं समानता के एक नए युग की शुरुआत हुई है।
  • कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि ट्रिपल तलाक इस्लाम के खिलाफ है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं। इस फैसले से सब पक्ष संतुष्ट भी होंगे और यह विवाद खत्म हो  जाएगा।
  • यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला स्वागत योग्य है। अगर बहुमत के साथ होता तो ज्यादा बेहतर होता। महिला सशक्तीकरण की तरफ यह  बड़ा कदम है।
  • AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हम इस फैसले का सम्मान करते हैं। फैसले को हकीकत की जमीन पर उतारने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ेगी।
  • मुख्य याचिकाकर्ता शायरा बानो ने कहा कि वह जजमेंट का स्वागत और समर्थन करती हैं। यह मुस्लिम महिलाओं के लिए ऐतिहासिक दिन है।
  • पाकिस्तानी मूल के मुस्लिम स्कॉलर तारिक फतेह ने खुशी जताते हुए कहा कि यह फैसला हमारे देश की बहू-बेटियों के हक में है। कहा, कि ये बाबर-औरंगजेब का देश नहीं है, जो इस तरह के  नियम चलेंगे।
  • बीजेपी लीडर सुब्रमण्यन स्वामी ने भी फैसले का स्वागत किया और कहा कि अब सरकार को यूनिफॉर्म सिविल कोड लाना चाहिए। 
  • केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी फैसले का स्वागत किया और कहा कि केंद्र सरकार को कानून बनाने में कोई दिक्कत नहीं है। 
  • कांग्रेस लीडर सलमान खुर्शीद ने कहा कि हमने जैसा सोचा था, वैसा ही हुआ। यह एक अच्छा फैसला है। यह फैसला सच्चाई, वास्तविककता और सही इस्लाम को उजागर करता है।
  • मुस्लिम लेखिका तस्लीमा नसरीन ने कहा कि मानवता के लिए सारे धार्मिक कानूनों को खत्म कर देना चाहिए। ट्रिपल तलाक का जिक्र कुरान में भी नहीं है, क्या यही इसे खत्म करने की वजह  नहीं होनी चाहिए?
  •  AAP नेता कुमार विश्वास ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत है। हर मुद्दे पर राजनीति करते पक्ष-विपक्ष अब अपने-अपने वोट बैंक तुष्टिकरण की बजाए स्त्री-हित में न्यायोचित कानून  बनाएं।
  • एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को जल्द से जल्द इस मामले में कानून लाना चाहिए।
  • अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी ने कहा कि यह धर्म से जुड़ा विषय नहीं है और इस सामाजिक बुराई के संदर्भ में कानून बनाने के विषय पर केंद्र सरकार सभी राजनीतिक दलों के साथ चर्चा करेगी। ट्रिपल तलाक धर्म से जुड़ा मुद्दा नहीं है, यह सामाजिक सुधार से जुड़ा विषय है।
Similar News
तीन तलाक असंवैधानिक, सरकार 6 महीने में कानून बनाए: सुप्रीम कोर्ट

तीन तलाक असंवैधानिक, सरकार 6 महीने में कानून बनाए: सुप्रीम कोर्ट

मुस्लिम पंचायत ने तीन तलाक देने वाले पति पर लगाया 75000 रुपए जुर्माना

मुस्लिम पंचायत ने तीन तलाक देने वाले पति पर लगाया 75000 रुपए जुर्माना

ट्रिपल तलाक़ के मामले न के बराबर, सर्वे में हुआ खुलासा 

ट्रिपल तलाक़ के मामले न के बराबर, सर्वे में हुआ खुलासा 

'ट्रिपल तलाक' पर ADM का नॉवेल, विरोध में उलेमाओं ने जलाई प्रतियां

'ट्रिपल तलाक' पर ADM का नॉवेल, विरोध में उलेमाओं ने जलाई प्रतियां

FOLLOW US ON