Dainik Bhaskar Hindi

अधर में लटका 160 संविदा शिक्षकों का भविष्य

अधर में लटका 160 संविदा शिक्षकों का भविष्य

डिजिटल डेस्क, मंडला। पूरे प्रदेश में अनुकंपा नियुक्ति और औपचारिकेत्तर योजना से संविदा शिक्षक बनने के बाद अब भविष्य अधर में है। आरटीई के तहत प्रशिक्षण अनिवार्य कर दिया है, लेकिन डीएड के लिए कक्षा 12 में 50 प्रतिशत से कम अंक वाले संविदा शिक्षक के आवेदन पोर्टल मान्य नहीं कर रहा है। जिससे संविदा शिक्षक प्रशिक्षण से वंचित हो रहे है। बिना प्रशिक्षण के वेतन वृद्धि और प्रमोशन के कोई लाभ नहीं मिलेगा।

जानकारी के मुताबिक नि:शुल्क शिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009 में प्रावधान है कि शासकीय और अशासकीय विद्यायल में प्रशिक्षित शिक्षक की अध्यापन कार्य कराएगें। डीएड के लिए कक्षा बारहवीं में 50 प्रतिशत से अधिक अंक होना चाहिए। पूरे प्रदेश में वर्ग तीन में करीब 940 संविदा शिक्षक है। जिनकी नियुक्ति अनुकंपा और औपचारिकेत्तर से हुई है। इनके अंक कक्षा बारहवी में 50 प्रतिशत से कम है। मंडला जिला में 160 संविदा शिक्षक डीएड प्रशिक्षण के लिए पात्र नहीं है।

प्रशिक्षण के लिए 6 जुलाई से 15 जुलाई तक ऑनलाईन आवेदन जमा हो रहे है। इन संविदा शिक्षक के आवेदन पोर्टल नहीं ले रहा है। जिससे संविदा शिक्षक प्रशिक्षण से वंचित हो रहे है। बिना डीए प्रशिक्षण के संविदा शिक्षकों को अध्यापक और वेतन वृद्धि का लाभ नहीं मिलेगा। जिससे संविदा शिक्षक डीएड के प्रशिक्षण के लिए भटक रहे है। शिक्षा विभाग के भोपाल स्तर के अधिकारियों को ज्ञापन भी सौंपे गए है।और प्रशिक्षण की पात्रता की मांग की गई है।

Most Popular
LIFE STYLE

FOLLOW US ON