•  16.8°C  Partly cloudy
Dainik Bhaskar Hindi

Home » National » SC rejects NOTA petition, filed by gujrat congress

SC ने खारिज की NOTA की याचिका, कहा- '' इसे दायर करने में लेटलतीफ है कांग्रेस ''

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 04th, 2017 14:27 IST

SC ने खारिज की NOTA की याचिका, कहा- '' इसे दायर करने में लेटलतीफ है कांग्रेस ''

डिजिटल डेस्क, नई दल्ली। सुप्रीम कोर्ट (SC) ने गुरुवार को NOTA (नोटा-उपरोक्त में से कोई नहीं) पर रोक लगाने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। गौरतलब है कि गुजरात में 8 अगस्त को होने वाले राज्यसभा चुनाव में NOTA (उपरोक्त में से कोई नहीं) विकल्प के इस्तेमाल को लेकर कांग्रेस याचिका दायर की थी। SC ने इस मामले में कांग्रेस की तरफ से याचिका दायर करने में देरी का जिक्र करते हुए नोटा पर तत्काल रोक लगाने से मना कर दिया। कोर्ट ने इस संबंध में चुनाव आयोग को भी नोटिस जारी कर जवाब मांगा है और मामले की सुनवाई 13 सितंबर के लिए टाल दी है।

कपिल सिब्बल ने रखे कांग्रेस के तर्क

मामले में याचिका वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने राज्यसभा चुनाव में नोटा के इस्तेमाल पर खिलाफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अमिताभ रॉय और जस्टिस एएम खानविलकर की सदस्यता वाली पीठ के समक्ष दायर की थी और फौरन सुनवाई की मांग की थी। सिब्बल ने कोर्ट से तर्क दिया कि NOTA भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहा है। गुजरात में अब चुनाव हो रहे हैं तो वो कोर्ट में इसे चुनौती दे रहे हैं।
गुजरात कांग्रेस की ओर से दायर दाखिल याचिका में कहा गया है कि NOTA का प्रावधान संविधान में नहीं है और न ही कोई कानून है। ये सिर्फ चुनाव आयोग का सर्कुलर है। ऐसे में  NOTA जनप्रतिनिधि अधिनियम 1951 का उल्लंघन करता है।

SC ने कांग्रेस से किए सवाल

  • SC ने कांग्रेस से सवाल करते हुए कहा कि चुनाव आयोग ने जनवरी 2014 में नोटिफिकेशन जारी किया और अब अगस्त 2017 चल रहा है। इस बीच राज्यसभा के चुनाव हुए लेकिन कांग्रेस कभी इसे चुनौती नहीं दी? आज नोटा को इसलिए चुनौती दी जा रही हैं क्योंकि ये आपको जच नहीं कर रहा। कोर्ट ने ये भी कहा कि चुनाव आयोग ने 14 जुलाई को चुनाव नोटिफिकेशन जारी किया था तब भी कांग्रेस ने चुनौती नहीं दी। अब चुनाव आ गए हैं तो चुनौती दी गई।
  • SC ने कांग्रेस से कहा कि 'आप राजनीतिक पार्टी हैं और कोई भी विधायक इसे चुनौती दे सकता था। लेकिन आप तब तक इंतजार नहीं कर सकते जब तक आप प्रभावित न हो रहे हों। ये भी ध्यान रखना चाहिए कि नोटा का 2014 का नोटिफिकेशन चुनाव आयोग ने सभी राज्यों के लिए किया था न कि गुजरात के लिए।
loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

Similar News
अब आठवीं तक 'विद्यार्थियों को पास ' नहीं करेगी सरकार, खुद करेंगे मेहनत तभी बढ़ेंगे आगे

अब आठवीं तक 'विद्यार्थियों को पास ' नहीं करेगी सरकार, खुद करेंगे मेहनत तभी बढ़ेंगे आगे

दहेज मामलों में नहीं होगी तुरंत गिरफ्तारी : सुप्रीम कोर्ट

दहेज मामलों में नहीं होगी तुरंत गिरफ्तारी : सुप्रीम कोर्ट

फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी गैर कानूनी : सुप्रीम कोर्ट

फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी गैर कानूनी : सुप्रीम कोर्ट

'इंदू सरकार' पर नहीं लगेगी रोक , सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 'आर्टिस्टिक एक्सप्रेशन' में बनी फिल्म

'इंदू सरकार' पर नहीं लगेगी रोक , सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 'आर्टिस्टिक एक्सप्रेशन' में बनी फिल्म

देश में किसी को पूर्ण निजता का अधिकार नहीं

देश में किसी को पूर्ण निजता का अधिकार नहीं

किसानों की खुदकुशी मसला रातों रात नहीं सुलझेगा : सुप्रीम कोर्ट

किसानों की खुदकुशी मसला रातों रात नहीं सुलझेगा : सुप्रीम कोर्ट

SC ने IIT-JEE काउंसलिंग और दाखिले पर रोक लगाई

SC ने IIT-JEE काउंसलिंग और दाखिले पर रोक लगाई

गलत था जस्टिस कर्णन मामले में मीडिया कवरेज : सुप्रीम कोर्ट

गलत था जस्टिस कर्णन मामले में मीडिया कवरेज : सुप्रीम कोर्ट

SC ने पूछा- CEC और EC की नियुक्ति के लिए नियम क्यों नहीं बने ?

SC ने पूछा- CEC और EC की नियुक्ति के लिए नियम क्यों नहीं बने ?

IIT jee में एडमिशन लेने का रास्ता साफ़ , SC ने काउंसलिंग से रोक हटाई

IIT jee में एडमिशन लेने का रास्ता साफ़ , SC ने काउंसलिंग से रोक हटाई

राम मन्दिर मामले में सुप्रीम कोर्ट जल्द देगी फैसला

राम मन्दिर मामले में सुप्रीम कोर्ट जल्द देगी फैसला

सुप्रीम कोर्ट की फटकार- 'गौरक्षा के नाम पर कानून हाथ में लेने वालों को संरक्षण न दें'

सुप्रीम कोर्ट की फटकार- 'गौरक्षा के नाम पर कानून हाथ में लेने वालों को संरक्षण न दें'

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

FOLLOW US ON