•  16.8°C  Partly cloudy
Dainik Bhaskar Hindi

Home » National » terror funding, NIA questions Geelani's sons for pakistan connection

टेरर फंडिंग : गिलानी के बेटों से NIA ने की पूछताछ, अब तक 8 गिरफ्तार

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 09th, 2017 10:25 IST

टेरर फंडिंग : गिलानी के बेटों से NIA ने की पूछताछ, अब तक 8 गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  पाकिस्तान द्वारा कश्मीर में अलगाववादियों को टेरर फंडिंग करने, सिक्युरिटी फोर्सेस पर पत्थरबाजी करने और अशांति फैलाने के मामले में मंगलवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने अपनी जांच कार्रवाई शुरु कर दी है। NIA की टीम ने हुर्रियत के कट्टरपंथी धड़े के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी के बेटों नईम और नसीम से पूछताछ भी की। इससे पहले भी जांच एजेंसी 8 अलगाववादियों को गिरफ्तार कर चुकी है। 

NIA के अधिकारियों ने कहा कि नईम और नसीम पूर्वाह्न् करीब 11 बजे नई दिल्ली में एजेंसी के मुख्यालय पहुंचे थे, यहां दोनोंं से NIA ने पूछताछ की। एजेंसी ने इससे पहले भी उन्हें 27 जुलाई और 1 अगस्त को समन जारी किया था, लेकिन वे पेश नहीं हुए थे, क्योंकि वह श्रीनगर में एक अस्पताल में भर्ती थे। उन्होंने साथ ही यह कहकर आने से इनकार कर दिया था कि यह नोटिस शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चरल साइंस के कुलपति के जरिए भेजा जाए, ताकि उन्हें अवकाश लेने की इजाजत मिल सके।

गिलानी के दामाद समेत 8 गिरफ्तार

NIA ने टेरर फंडिंग केस में इसी साल 24 जुलाई को कश्मीर के जिन 8 अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार किया था, उनमें बिट्टा कराटे, नईम खान, अल्ताफ अहमद शाह (अल्ताफ फंटूश), अयाज अकबर, टी. सैफुल्लाह, मेराज कलवल और शहीद-उल-इस्लाम शामिल हैं। अल्ताफ हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के प्रमुख सैयद अली शाह गिलानी के दामाद हैं। उन्हें अपराधिक साजिश और भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

पाकिस्तानी आतंकी संगठन और ISI देती है फंड

अलगाववादी नेताओं पर आरोप है कि घाटी में सिक्युरिटी फोर्सेस पर पत्थर बरसाने के लिए हुर्रियत नेताओं को पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों और पाक खुफिया एजेंसी ISI दोनों से फंडिंग होती है। साथ ही इन्हें कश्मीर में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, स्कूलों और अन्य सरकारी संस्थानों को जलाने जैसे विध्वंसक गतिविधियों के लिए लश्कर चीफ हाफिज सईद से फंड मिलता है। NIA ने इस मामले में फिलहाल 13 लोगों के खिलाफ सबूत जुटाए हैं।

गौरतलब है कि ऑपरेशन हुर्रियत में हुर्रियत के कई नेताओं ने कबूल किया था कि उन्हें पाकिस्तान से फंड मिलता है, जिससे कि घाटी में अशांति का माहौल बनाए रखा जा सके। इस खुलासे के बाद NIA ने अलगाववादी नेता नईम खान और बिट्टा कराटे के वॉइस और राइटिंग सैंपल लिए हैं।

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

Similar News
शब्बीर शाह सबसे रईस अलगाववादी नेता, NIA का खुलासा

शब्बीर शाह सबसे रईस अलगाववादी नेता, NIA का खुलासा

NIA का खुलासा गिलानी के पास 150 करोड़ से ज्यादा की प्रॉपर्टी

NIA का खुलासा गिलानी के पास 150 करोड़ से ज्यादा की प्रॉपर्टी

लव जिहाद मामले में केरल सरकार और NIA को भेजा नोटिस, SC ने मांगा जवाब

लव जिहाद मामले में केरल सरकार और NIA को भेजा नोटिस, SC ने मांगा जवाब

टेरर फंडिंग मामला : हुर्रियत के लश्कर कनेक्शन पर NIA की मुहर

टेरर फंडिंग मामला : हुर्रियत के लश्कर कनेक्शन पर NIA की मुहर

टेरर फंडिंग मामला : NIA ने गीलानी के बेटे को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया

टेरर फंडिंग मामला : NIA ने गीलानी के बेटे को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया

'टेरर फंडिग' मामले में अलगाववादी नेता गिलानी भी गिरफ्तार

'टेरर फंडिग' मामले में अलगाववादी नेता गिलानी भी गिरफ्तार

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

FOLLOW US ON