•  21°C  Mist
Dainik Bhaskar Hindi

Home » City » The fall of the student due to slipping due to water caused fracture

स्कूल के फर्श पर पानी का भराव, छात्रा का पैर टूटा

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 21st, 2017 00:16 IST

स्कूल के फर्श पर पानी का भराव, छात्रा का पैर टूटा

डिजिटल डेस्क, नरसिंहपुर। बरहटा के कृषि उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में अध्ययनरत स्टूडेंट के उपचार के लिए परिजन भटक रहे हैं। शनिवार को स्कूल में दोपहर के समय पानी की वजह से हुई फिसल की वजह से गिरने के कारण स्टूडेंट के पैर में फ्रेक्चर हो गया। बरहटा के कृषि उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में क्लास 11वीं की स्टूडेंट सुषमा कोरी, स्कूल के फर्श में पानी भराव की वजह से हुई फिसलन के कारण गिर गई। घटना में स्टूडेंट का दाहिना पैर फ्रेक्चर हो गया। फोन पर शिक्षक द्वारा जानकारी देने के बाद परिजन स्कूल पहुंचे और किसी तरह उसे उपचार के लिए नरसिंहपुर लाए।

जांघ की हड्डी टूटी 

बालिका के पिता उदय कोरी ने बताया कि जब वे अपनी बेटी को लेकर नरसिंहपुर में डाक्टर हंसराज सिंह के यहां लेकर आए तो पता चला कि उसकी जांघ की हड्डी टूट गई है। जिसके उपचार में लगभग 50 हजार रूपए खर्च होने की बात डाक्टर ने कही। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक न होने की वजह से इतनी राशि का इंतजाम नहीं होने से परिजन, उसे लेकर भटक रहे हैं। 

विद्यालय में नहीं फंड

शासकीय स्कूल में हुई घटना के बाद भी विद्यालय के स्टाफ ने कोई सहायता नहीं की। परिजन अपने स्तर पर स्टूडेंट को लेकर आए इस दौरान कोई साथ तक नहीं आया। इस संबंध में प्राचार्य टीआर पटैल ने कहा कि विद्यालय के पास उपचार के लिए कोई फंड नहीं होता है। वहीं विद्यालय के शिक्षक शरद गुप्ता ने फोन पर परिजनों को जानकारी देकर, अपने कर्त्तव्य से इतिश्री कर ली। 

शासकीय अस्पताल में कराओ उपचार 

स्टूडेंट के उपचार के संबंध में परिजनों ने क्षेत्र के MLA डॉक्टर कैलाश जाटव से संपर्क किया। MLA ने स्टूडेंट को शासकीय अस्पताल में ले जाकर उपचार कराने और शासन स्तर से सहायता दिलाने का आश्वासन दिया। 

जर्जर स्कूलों पर नहीं ध्यान 

सरपंच श्रीमती चांदनी कोरी ने बताया कि स्कूल के छत से कमरों और दहलान में पानी आता है। जर्जर छतों की मरम्मत के लिए कोई ध्यान नहीं दिया जाता। वर्षो पुराने भवन की छत से पानी टपकता है। पानी के भराव की वजह से हुई फिसलन के कारण यह हादसा हुआ है, लेकिन शिक्षा विभाग इस ओर ध्यान तक नहीं देता। 

loading...
Que.

क्या नोट बंदी के फैसले से अर्थव्यवस्था ख़राब हुई ?

Similar News
बेटी लापता, पिता 9 माह से काट रहा पुलिस के चक्कर

बेटी लापता, पिता 9 माह से काट रहा पुलिस के चक्कर

बस-ट्रक में आमने-सामने की टक्कर, एक दर्जन से अधिक घायल

बस-ट्रक में आमने-सामने की टक्कर, एक दर्जन से अधिक घायल

मंडी में सर्वेयर से परेशान किसान, किया सड़क जाम

मंडी में सर्वेयर से परेशान किसान, किया सड़क जाम

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

एक नज़र इधर भी
loading...

FOLLOW US ON