Dainik Bhaskar Hindi

सरकार को क्यों लाना पड़ा 200 का नोट

सरकार को क्यों लाना पड़ा 200 का नोट

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद 500 और 2000 रुपए के नए नोट पेश कर चुकी केंद्र सरकार को आखिर क्या पड़ी कि वह शुक्रवार से 200 रुपए का नया नोट लेकर आ रही है? जानिए सरकार को क्यों लाना पड़ रहा है 200 रुपए का नया नोट।

  • आरबीआई अधिकारियों के अनुसार नोटबंदी के बाद पेश किए गए 500 और 200 रुपए के नोट के बीच ऐसी कोई करेंसी नहीं थी, जो बीच की हो। 
  • इसीलिए सरकार 200 रुपए का नया नोट लेकर आई है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एक आला अधिकारी कहते हैं कि असल में यह एक मिसिंग लिंक था, जो कि अब खत्म हो गया।
  • उन्होंने कहा कि 200 रुपए के नए नोट जारी होने से लोगों को लेन-देन में आसानी होगी।  
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अनुमान के अनुसार नोटबंदी से पहले देश में प्रचलित 87 परसेंट नोट बड़े थे। लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार की नोटबंदी के बाद 2000, 500, 50 और अब 200 रुपए के नए नोट जारी होने के बाद बाजार में बड़े नोटों की संख्या 70 परसेंट तक घट गई है।
  • केंद्र सरकार अब एक रुपए का नया नोट भी जारी करेगी। एक रुपए के नोट की छपाई 1994 में बंद हो गई थी।
  • नए जारी होने वाले 200 रुपए के नोट अभी आरबीआई की चुनिंदा शाखाओं से कुछ ही शहरों में मिलेंगे।
  • इन्हें अभी एटीएम से नहीं निकाला जा सकेगा, क्योंकि इसके लिए एटीएम मशीनों का दोबारा कैलिब्रेशन करना होगा। इससे पहले भी 2000 रुपए के नए नोटों के लिए एटीएम मशीनों का कैलिब्रेशन करना होगा। 
     
LIFE STYLE

FOLLOW US ON

**230**