दैनिक भास्कर हिंदी: फेस्टिव सीजन में ऑटोमोबाइल सेक्टर को तगड़ा झटका, 11 प्रतिशत गिरी रिटेल सेल

November 23rd, 2018

हाईलाइट

  • ऑटोमोबाइल सेक्टर को तगड़ा झटका लगा है।
  • यात्री एवं दो पहिया वाहनों की खुदरा बिक्री में इस फेस्टिव सीजन में 11 प्रतिशत की गिरावट आई है।
  • फेस्टिव सीजन में देखी गई इस सुस्ती को फेडरेशन ऑफ आटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने चिंताजनक बताया है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। वैसे तो फेस्टिव सीजन में ज्यादातर सेक्टर्स में सेल काफी बढ़ जाती है, लेकिन इस बार ऑटोमोबाइल सेक्टर को तगड़ा झटका लगा है। यात्री एवं दो पहिया वाहनों की खुदरा बिक्री में इस फेस्टिव सीजन में 11 प्रतिशत की गिरावट आई है।  फेस्टिव सीजन में देखी गई इस सुस्ती को फेडरेशन ऑफ आटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने चिंताजनक बताया है। बता दें कि ऑटोमोबाइल सेक्टर में साल भर की बिक्री की लगभग 30 प्रतिशत ब्रिकी फेस्टिव सीजन में ही होती है।

FADA अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले ने कहा, 'हमने पिछले कुछ साल में फेस्टिव सीजन में इतनी मंदी कभी नहीं देखी है। इस त्योहारी मौसम के दौरान कई नकारात्मक प्रभाव पड़े हैं, जिसने उपभोक्ताओं की धारणा को प्रभावित किया और ग्राहकों ने खरीदारी का फैसला टाला है।' पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हुई बढोतरी, बीमा लागत और गैर वत्तीय बैंकिंग कंपनियों के सामने खड़े नकदी संकट जैसे फैक्टर्स के कारण ग्राहकों की धारणा बदली है।

काले ने कहा डीलर उम्मीद रखे कि फेस्टिव सीजन में आई इंक्वायरी सेल में कनवर्ट होगी और घटी सेल्स को वह रिकवर कर लेंगे। क्योंकि सेल्स में आई कमी की मुख्य वजह ग्राहकों का खरीदारी के फैसले को टालना था। हालांकि इस सीजन में थ्री व्हीलर और कमर्शियल व्हेकल की सेल्स में 10 और 16 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

काले ने कहा, 10 अक्टूबर से 20 नवंबर तक चले 42 दिन के फेस्टिव सीजन के दौरान कुल 20,49,391 वाहन पंजीकृत हुए। जबकि पिछले साल फेस्टिव सीजन में 23,01,986 वाहन पंजीकृत हुए थे। दो पहिया वाहनों की बात करे तो पंजीकरण 13 प्रतिशत गिरकर 15,83,276 वाहन रहा, जो एक साल पहले 18,11,703 था। वहीं कुल 2,87,717 यात्री वाहन पंजीकृत हुए। इसमें 14 प्रतिशत की गिरावट आई है। पिछले साल इसी मौसम में 3,33,456 वाहन पंजीकृत हुए थे।