दैनिक भास्कर हिंदी: नीरव मोदी घोटाले को PNB MD ने बताया बीते दिनों की बात, कहा- प्रॉफिट में लौटेगा बैंक

October 3rd, 2018

हाईलाइट

  • PNB में हुए 13000 करोड़ रुपए से ज्यादा के घोटाले के बाद अब दावा किया जा रहा है कि चालू वित्त वर्ष में बैंक फिर से मुनाफे में लौटेगा।
  • PNB के निर्देशक सुनील मेहता ने कहा कि नीरव मोदी घोटाला अब बीती बात है।
  • मेहता ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पीएनबी 2018-19 में प्रॉफिट में लौटेगा।

डिजिटल डेस्क, तिरुवनंतपुरम। पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में हुए 13500 करोड़ रुपए से ज्यादा के घोटाले के बाद अब दावा किया जा रहा है कि चालू वित्त वर्ष में बैंक फिर से मुनाफे में लौटेगा। PNB के निदेशक सुनील मेहता ने कहा कि नीरव मोदी घोटाला अब बीती बात है। इस साल जनवरी में घोटाला सामने आने के बाद बैंक ने कई कदम उठाए हैं। मेहता ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पीएनबी 2018-19 में प्रॉफिट में लौटेगा। मेहता बाढ़ पीड़ित केरल की मदद के लिए सहायता राशि डोनेट करने एक कार्यक्रम में पहुंचे थे। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने ये बात कही।

सुनील मेहता ने कहा, 'बैंक धीरे-धीरे ग्रोथ की राह पर लौट रहा है। PNB बैंक ने दिखा दिया है कि वह बड़े से बड़े नुकसान से बाहर आ सकता है। आशा है कि इसी वित्त वर्ष मुनाफा दिखेगा।' इस साल जनवरी-मार्च तिमाही में जहां नीरव मोदी घोटाले की वजह से PNB को 13500 करोड़ रुपए से ज्यादा का घाटा हुआ था। वहीं बैंक को अप्रैल-जून तिमाही में 940 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। जबकि, पिछले साल की इसी तिमाही के दौरान 343.40 करोड़ का मुनाफा हुआ था। PNB बोर्ड ने प्रेफरेंशियल शेयर के जरिए सरकार से 5,431 करोड़ रुपए की मदद मांगी है। 30 अक्टूबर को ईजीएम और रेग्युलेटरी मंजूरी के बाद बैंक को रकम मिलने की उम्मीद है। इसमें अनुमति मिलने के बाद बैंक में फंड इंफ्यूजन किया जाएगा। इससे पहले पिछले साल 2,816 करोड़ रुपये का फंड इन्फ्यूजन हुआ था।  

बता दें कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी ने 13,500 करोड़ रुपए से ज्यादा का पंजाब नेशनल बैंक में घोटाला किया था। बैंक अधिकारियों की मिलीभगत से दोनों फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स के जरिए कई सालों तक लोन लेते रहे। इस साल जनवरी में घोटाले का खुलासा हुआ था।