• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • 13 lakhs cheated from elderly couple in the name of providing accommodation in Baba Ramdev's ashram

वाराणसी से जुड़े तार : बाबा रामदेव के आश्रम में ठहरने की सुविधा दिलाने के नाम पर बुजुर्ग दंपति से 13 लाख ठगे 

July 23rd, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। साइबर ठग हर रोज ठगी के नए-नए तरीके खोजते रहते हैं और लोग अनजाने में इनके जाल में फंस भी जाते हैं। बाबा रामदेव की हरिद्वार स्थित पतंजलि योग ग्राम ट्रस्ट में आजीवन रहने और इलाज के सुविधा दिलाने के नाम पर एक ठग ने बुजुर्ग दंपति को करीब 13 लाख रुपए का चूना लगा दिया। जब पैसे देने के बाद भी किसी तरह की बुकिंग नहीं हुई और आरोपी ने संपर्क तोड़ लिया तब बुजुर्ग को ठगी का एहसास हुआ। मामला ठाणे जिले के कापुरबावडी इलाके का है। 

69 वर्षीय शिकायतकर्ता रुपककुमार गार्गे अपने और अपनी पत्नी का इलाज कराने के लिए पतंजलि योगपीठ जाना चाहते थे। ऑनलाइन सर्च के दौरान उन्हें एक नंबर मिला। सचिन अग्रवाल नाम के आरोपी ने दावा किया कि वह पैसे देने पर दंपति के लिए आजीवन कॉटेज में रहने और मुफ्त इलाज की व्यवस्था कर सकता है। ज्यादा पैसे देकर वे आजीवन सदस्यता ले सकते हैं जिसके बाद वे कभी भी चाहे जितने समय तक वहां कॉटेज में रह सकते हैं और मुफ्त इलाज करा सकते हैं। आरोपी ने खुद के पतंजलि योग ग्राम से जुड़े होने का भी दावा किया। 

आरोपी के झांसे में आकर गार्गे ने उसके बताए गए बैंक खातों में 12 लाख 78 हजार 250 रुपए ट्रांसफर कर दिए। इसके बाद उन्हें पता चला कि उनसे पैसे लेने वाला ठग है और उसका पतंजलि से कोई लेना देना नहीं है। सीनियर इंस्पेक्टर यूडी सोनवणे ने बताया कि मामले में शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420,406 के साथ आईटी एक्ट की धारा 66(सी) के तहत ठगी के आरोप में एफआईआर दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है। अब तक की छानबीन में खुलासा हुआ है कि आरोपी का पतंजलि योगग्राम से कोई लेना देना नहीं है। उसने बुजुर्ग  से पैसे ठगने के लिए जिन बैंक खातों का इस्तेमाल किया उसके आधार पर उसकी पहचान की कोशिश की जा रही है। ठगी के लिए इस्तेमाल किया गया एक बैंक खाता उत्तर प्रदेश के वाराणसी का है। इसके बारे में और जानकारी इकठ्ठी की जा रही है।