नागपुर: पांचपावली थाने के 4 पुलिस कर्मचारियों का तबादला

June 21st, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लालगंज खैरीपुरा परिसर में मूलचंद बिनेकर मृत्यु प्रकरण को लेकर  परिजन और नागरिक घटना के दूसरे दिन भी आक्रोषित नजर आए। इसके चलते पांचपावली थाने के सामने तगड़ा बंदोबस्त लगा दिया गया था। गत रविवार को पुलिस की छापेमारी  के दौरान मूलचंद सावजी के संचालक मूलचंद बिनेकर की इमारत से गिरकर मौत हो गई थी। घटना को लेकर परिजनों ने पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। चर्चा है कि, सोमवार को शव लेकर परिजन थाने में प्रदर्शन करने की तैयारी में थे, इसके मद्देनजर पुलिस ने थाने में तगड़ा बंदोबस्त लगा दिया था। उधर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने मामले को गंभीरता को लेते हुए छापेमारी में शामिल पुलिस नायब सुनील ठाकुर, संजय मिश्रा, संजयकुमार बरेले और रोशन फुकट का तत्काल प्रभाव से सोमवार को पुलिस मुख्यालय में तबादला कर दिया है। प्रकरण की जांच क्राइम ब्रांच पुलिस को सौंपी दी है। 

आरोप : पुलिस ने फुटेज डिलीट किए
पुलिस सूत्रों के अनुसार पांचपावली पुलिस को रविवार की रात में सूचना मिली थी कि, मूलचंद बिनेकर के क्लब में जुआ चल रहा है। इसकी जांच करने चारों पुलिसकर्मी पहुंचे थे।  कार्रवाई के समय मूलचंद इमारत की तीसरी मंजिल से गिरने पर जख्मी हो गए। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि, चारों पुलिस नायब  ने मूलचंद के साथ हाथापाई की और  उन्हें धक्का देकर इमारत से नीचे गिरा दिया। घर में लगे सीसीटीवी कैमरों का डीवीआर भी पुलिस अपने साथ ले गई और फुटेज भी डिलीट कर दिए गए।  परिजनों की मांग थी कि, सभी पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। इस मामले की जानकारी मिलने पर सह पुलिस आयुक्त अस्वती दोरजे, अपर पुलिस आयुक्त  नवीनचंद्र रेड्डी, अपराध शाखा पुलिस विभाग के उपायुक्त चिन्मय पंडित, उपायुक्त गजानन राजमाने ने मूलचंद के घर पहुंचकर घटना का जायजा लिया।  

पीड़ित परिजनों के साथ ज्वाला धोटे थाने पहुंची : समाजसेविका ज्वाला धोटे सोमवार की शाम को अपने समर्थकों व मृतक मूलचंद बिनेकर के परिजनों के साथ पांचपावली थाने पहुंची। पुलिस उपायुक्त चिन्मय पंडित और गजानन राजमाने को निवेदन सौंपा और परिजनों ने लगाए आरोपों की जांच कर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।  पंडित ने उन्हें बताया कि, पुलिस धारा 174  के तहत मामला दर्ज कर चुकी है। प्रकरण की गहन  जांच की जाएगी।  पोस्टमार्टम रिपोर्ट जल्द मांगी गई है। इस मामले में कोई भी गड़बड़ी सामने आई, तो दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।