देर शाम तक हुई वोटिंग,मतदाताओं ने दिखाया उत्साह: पांच निकाय में शहर सरकार बनाने 67.97 फीसदी मतदान

September 27th, 2022

डिजिटल डेस्क,मंडला। मंगलवार को जिले के पांच नगरीय निकाय में शहर सरकार बनाने के लिए मतदाताओं ने वोटिंग की है। यहां छुटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्वक रहा है। मतदाताओं ने मतदान के लिए उत्साह दिखाया है। जिले में पांच निकाय में 67.97 प्रतिशत मतदान हुआ है।

जानकारी के मुताबिक मंडला जिले की पांच नगरीय निकाय मंडला, बिछिया, नैनपुर, निवास और बम्हनीबंजर में शहर की सरकार चुनने के लिए मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया है। मतदान के लिए 124 मतदान केंद्र बनाये गये थे। जिसमें मंडला में 55, नैनपुर में 24, बिछिया, बम्हनीबंजर और निवास के 15-15 केंद्रो में मतदान हुआ है। सुबह 7 बजे से देर शाम तक वोटिंग हुई है। मंडला जिले में मंडला में  3 बजे तक 63.72 प्रतिशत, नैनपुर में 70.73 प्रतिशत,बिछिया में 72.07 प्रतिशत, बम्हनीबंजर में 74.96 प्रतिशत और निवास में 73.25 प्रतिशत वोटिंग की गई। वोटिंग के दौरान गहमागहमी का माहौल रहा है। राजनैतिक दल, निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थक मतदान केंद्र के 100 मीटर दूरी पर डेरा जमाए रहे है। मंडला, नैनपुर में छुटपुट विवाद भी सामने आये है। हालाकि  मतदान केंद्रो के आसपास तू-तू, मैं-मैं को छोड़कर कोई बड़ी घटना नही हुई है।

51 हजार मतदाताओं ने की वोटिंग-

मंडला जिले के पांच निकायो में 75 हजार 926 मतदाताओं में 51 हजार मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया है। मंडला में 38 हजार 34 मतदाताओं में से 24 हजार 235, नैनपुर में 16 हजार 148 मतदाताओं में से 11 हजार 421, बिछिया मे 8 हजार 282 मतदाताओं में से 5 हजार 969, बम्हनीबंजर में 7 हजार 9 मतदाताओं में 5 हजार 254 और निवास में 6 हजार 453 मतदाताओं में 4 हजार 227 मतदाताओं ने मतदान किया है।

महिलाओं ने दिखाया उत्साह-

मतदान में महिला मतदाताओं ने उत्साह के मतदान किया है। मंडला में 12 हजार 37 पुरूष और 12 हजार 198 महिला, बिछिया में 2 हजार 924 पुरूष, 3 हजार 35 महिलाएं, बम्हनीबंजर 2 हजार 537 पुरूष और 2 हजार 717 महिलाएं, निवास में 2 हजार 315 पुरूष और 2 हजार 411 महिलाओं ने मतदान किया है।25 हजार 546 पुरूष और 26 हजार 50 महिलाओं ने मतदान किया है।

354 प्रत्याशियों को भाग्य ईव्हीएम में कैद

मंडला जिले की 5 निकायो में 84 वार्डो में 354 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे है। जिसमें मंडला के लिए 24 वार्ड में 127, बम्हनी के 15 वार्ड में 70, नैनपुर  के 15 वार्ड में 72, बिछिया के 15 वार्ड में  42, निवास के 15 वार्ड में 43 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला ईव्हीएम में कैद हो गया है। 30 सितम्बर को सुबह 9 बजे से मतगणना होगी। जिसके बाद रिजल्ट सामने आयेगे।

चाक चौबंध रही सुरक्षा व्यवस्था-

नगरीय निकाय चुनाव के लिए सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किये गये थे, पांच नगरीय निकाय के लिए 400 पुलिस बल तैनात किया गया था। इसके अलावा  85 वनकर्मी और 185 कोटवार और एसएएफ की 2 कंपनी ने ड्यूटी की है। 27 मोबाइल टीम की नजर बनाये रखी है। इसके अलावा 250 का बल रिजर्व में रखा गया था। थानों का पुलिस बल भी चुनाव की हर स्थिति पर नजर बनाये हुये था।

देर शाम तक हुई वोटिंग-

मंडला जिले में वोटिंग का समय सुबह 7 बजे शाम 5 बजे तक निर्धारित किया गया था, लेकिन पांच बजे के बाद तक वोटिंग हुई है। जो मतदाताओं पांच बजे के पहले वोटिंग के लिए पहंचु गये थे, उन्होने मतदान शाम बजे के बाद किया गया है। वोटिंग के बाद मतदान दलों के द्वारा ईव्हीएम जमा कराई गई है।

व्हील चेयर तो रखी, लेकिन रेम्प के इंतजाम नहीं-

प्रशासन के द्वारा मतदान केंद्रो के लिए स्थान के चयन में परिस्थिति और सुविधा का ध्यान नही रखा गया है। कृषि उपज मंडी में बनाये गये केंद्र में बूजुर्गो और दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था तो की थी, लेकिन यहां रेम्प नही होने के कारण मतदान के लिए मतदाताओं की व्हील चेयर को उठाकर रखने की जरूरत पड़ी है। इसके अलावा दीन दयाल रसोई में भी मतदान केंद्र बनाया गया था, मुख्य मार्ग में केंद्र था, इसके अलावा यहां केंद्र बनने के कारण गरीबों की रसोई भी दो दिन बंद रही है।

बुजूर्ग भी मतदान के लिए पहुंचे-

शहर सरकार बनाने के लिए युवा के अलावा बुजूर्गो ने भी मतदान किया गया है। यहां 80 से 100 वर्ष आयु तक के बुजूर्गो ने मतदान किया है। बुजूर्ग व्हीलचेयर और अपने के सहारे मतदान केंद्र तक पहुंचे और नगर चुनने के लिए मताधिकार का प्रयोग किया है। निर्मला शाला में 86 वर्ष के दौलत राम चक्रवर्ती ने पहुंचकर मतदान किया है।

13 साल में शहर सरकार बनाने पहली बार वोटिंग

मंडला जिले के निवास नगरीय निकाय चुनाव में 13 साल में पहली बार शहर के वार्ड नम्बर 14 और 15 में शहर सरकार बनाने के लिए पहली बार मतदान हुआ है। दरअसल निवास नगर परिषद के गठन के बाद यहां दो बार वार्ड में चुनाव हुये है। लेकिन नगर में पंचायत को शामिल करने के विरोध के चलते यहां चुनाव का बहिष्कार होता रहा है लेकिन इस बार वार्ड के विकास के लिए चुनाव में हिस्सा लिया और प्रत्याशी चुनाव मैदान में आये। इसके बाद यहां भी मतदान हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक निवास नगर परिषद का गठन वर्ष 2009 में हुआ है। नगर परिषद में ग्राम पाठा, देवगांव, करौंदी को शामिल किया गया था। जिनसे तीन वार्डो का गठन किया है। वर्ष 2012 में यहां नगर परिषद के चुनाव हुये है। लेकिन वार्ड क्रमांक 13, 14 और 15 से चुनाव का बहिष्कार किया। तीन वार्ड के निवासी नगर में शामिल नही होना चाहते थे, वर्ष 2017 के निर्वाचन में वार्ड नम्बर 13 में पार्षद का चुनाव हो गया लेकिन 14 और 15 पिछले दो चुनाव से बहिष्कार करते आ रहे थे। पिछले 13 साल में दो वार्डो का विकास नही हुआ। जिसके बाद इस साल यहां वार्डवासियों ने चुनाव में हिस्सा लिया है।