दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में 45 की उम्र से ऊपर वाले 9 लाख लोगों को लगेगी वैक्सीन, पूर्व मंत्री अनीस बोले - कोविड बेड की संख्या बढ़ाएं

March 28th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना से बचाव के लिए प्रतिबंधक वैक्सीन लगाई जा रही है। शहर में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई। पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मी, दूसरे चरण में फ्रंट लाइन वर्कर को वैक्सीन लगाई जा रही है। 1 अप्रैल से 45 वर्ष से ऊपर उम्र वालों को वैक्सीन लगाई जाएगी। 45 से अधिक उम्र वालों की जनसंख्या लगभग 9 लाख है। वैक्सीनेशन को अपेक्षित प्रतिसाद नहीं मिलने से लक्ष्य पार करना मनपा के सामने बड़ी चुनौती है। कोरोना की रोकथाम के लिए पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत वैक्सीनेशन बढ़ाकर प्रतिदिन 40 हजार पर ले जाने के निर्देश दे चुके हैं। इस लक्ष्य पर पहुंचने के लिए मेडिकल कॉलेज, मेयो अस्पताल तथा मनपा के पांच सेंटर पर दो शिफ्ट में वैक्सीनेशन किया जा रहा है। दूसरी शिफ्ट में अल्प प्रतिसाद मिल रहा है। वैक्सीनेशन का आंकड़ा बढ़ने पर अन्य सेंटर दो शिफ्ट में चलाने की मनपा ने तैयारी की है।

प्रतिदिन 20 हजार वैक्सीनेशन

प्रतिदिन शहर में 75 वैक्सीनेशन सेंटर हैं। प्रतिदिन लगभग 20 हजार वैक्सीनेशन किया जा रहा है। 7 सेंटर दो शिफ्ट में काम कर रहे हैं। अन्य सेंटर पर एक शिफ्ट में वैक्सीनेशन किया जा रहा है। दूसरी शिफ्ट में लोगों का अल्प प्रतिसाद है। इसमें सभी सेंटरों पर 5 से 15 लोगों का ही वैक्सीनेशन हो रहा है। शहर में चले रहे अधिकांश वैक्सीनेशन सेंटर पर भीड़ बढ़ रही है। इसकी वजह नियोजन का अभाव है। अब 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों को वैक्सीन लगाने से भीड़ और बढ़ेगी। इसे नियंत्रित करने के लिए दो शिफ्ट में वैक्सीनेशन सुविधा उपलब्ध कराई गई है, लेकिन इसे अल्प प्रतिसाद मिलने से लक्ष्य तक कैसे पहुंच पाएंगे, यह बड़ा सवाल है। राम जोशी, अतिरिक्त आयुक्त, मनपा के मुताबिक वैक्सीनेशन सेंटर पर दूसरी शिफ्ट में अपेक्षित प्रतिसाद नहीं मिल रहा है। नागरिकों का प्रतिसाद बढ़ने पर अन्य सेंटर पर भी दो शिफ्ट की सुविधा की जा सकती है। वैक्सीन लगाने के लिए नागरिकों को ज्यादा से ज्यादा सामने आना अपेक्षित है।

जिले में 192 केंद्रों पर सिर्फ 69% टीकाकरण, 7451 बुजुर्गों ने लगवाया टीका

टीकाकरण का प्रतिशत घटने पर अब प्रशासन लोगों को टीका लेने के प्रति जागरूक कर रहा है। शनिवार को शहर व ग्रामीण क्षेत्र में कुल 192 केंद्रों पर सिर्फ 13 हजार 325 लोगों को टीका दिया गया। यानी 69.4% टीकाकरण किया गया। शहर के 77 केंद्रों पर 6989 लोगों को यानी 90.77% टीकाकरण किया गया। इसमें 3396 बुजुर्ग, 1239 कोमॉर्बिड, 777 स्वास्थ्यकर्मी और 1227 फ्रंटलाइन कर्मचारियों काे पहला डोज दिया गया। साथ ही 138 स्वास्थ्यकर्मी और  212 फ्रंटलाइन वर्कर को दूसरा डोज दिया गया। ग्रामीण क्षेत्र के 115 केंद्रों पर केवल 55% यानी 6336 लोगों को टीका दिया गया। इसमें 182 स्वास्थ्यकर्मी, 712 फ्रंटलाइन वर्कर, 1270 कोमॉर्बिड और 4055 बुजुर्गों को पहला डोज दिया गया। साथ ही 117 फ्रंट लाइन वर्कर और 82 स्वास्थ्यकर्मी को दूसरा डोज दिया गया।

उपजिला अस्पताल में 140 लोगों काे लगाई वैक्सीन

 

उधर कामठी/कन्हान के उपजिला अस्पताल में 136 लोगों को पहला तथा 4 लोगोंे को दूसरा वैक्सीन का डोज दिया गया। पहला डोज लेने वालों में 60 साल से अधिक आयु वाले 40, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 14, फ्रंट लाइन वर्कर 77, हेल्थ वर्कर 1 तथा दूसरा डोज लेने वालों में 8 फ्रंट लाइन वर्करों का समावेश है। गुमथी पीएचसी में 166 लोगों को लगाया टीका : तहसील के गुमथी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शनिवार को 166 लोगों को पहला डोज दिया गया। जिसमें 60 साल से अधिक आयु वाले 146, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 18 और 2 पुलिस कर्मचारियों का समावेश है। गुमथला पीएचसी सहित 5 उपकेंद्रों में 370 लोगों को दी वैक्सीन :स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैक्सीन लेने वालों की संख्या बढ़ाने के उद्देश्य से अब ज्यादा से ज्यादा स्थलों पर वैक्सीन का कार्य शुरू किया जा रहा है। गुमथला पीएचसी सहित भूगांव, दिघोरी, सोनेगांव राजा, तरोडी, वडोदा आदि उपकेंद्रों पर शनिवार को वैक्सीन दी गई। गुमथला पीएचसी में 47 लोगों को पहला डोज तथा 1 फ्रंट लाइन वर्कर को दूसरा डोज दिया गया। इस प्रकार कुल 48 लोगों को वैक्सीन दी गई। वहीं भूगांव उपकेंद्र में 11 लोगों को वैक्सीन दी गई। जिसमें 60 साल से अधिक आयु वाले 6, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 1, फ्रंट लाइन वर्कर 4 का समावेश है। दिघोरी उपकेंद्र में 55 लोगों को वैक्सीन दी गई। जिसमें 60 साल से अधिक आयु वाले 19, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 31, फ्रंट लाइन वर्कर 5 का समावेश है। सोनेगांव राजा उपकेंद्र मं  60 लोगों को वैक्सीन दी गई। जिसमें 60 साल से अधिक आयु वाले 13, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 36, फ्रंट लाइन वर्कर 11 का समावेश है। तरोडी उपकेंद्र में 49 लोगों को वैक्सीन दी गई। जिसमें 47 लोगांे को पहला तथा 2 लोगों को दूसरा डोज दिया गया। जिसमें पहला डोज लेने वालों में 60 साल से अधिक आयु वाले 9, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 28, फ्रंट लाइन वर्कर 8, हेल्थ वर्कर 2 का समावेश है। वहीं दूसरा डोज वाले 2 हेल्थ वर्कर का समावेश है। वडोदा उपकेंद्र में 137 लोगों को पहला वैक्सीन डोज दिया गया। जिसमें 60 साल से अधिक आयु वाले 62, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 60, फ्रंट लाइन वर्कर 15 का समावेश है।  कामठी-नागपुर रोड स्थित आशा हॉस्पिटल में शनिवार को 33 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। जिसमें 60 साल से अधिक आयु वाले 20, बीमारी से ग्रस्त 45 से 59 आयु वाले 13 लोगों का समावेश है।

 

कोराडी में 607 लोगों को दी वैक्सीन

 

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देख कोराडी ग्राम पंचायत ने स्वामी विवेकानंद अस्पताल में वैक्सीन देनेे के लिए पहल की है। जिसके तहत एक सप्ताह से पीएचसी सेंटर गुमथी के डाक्टरों की टीम ने लगभग 607 लोगों को वैक्सीन देने का कार्य किया। कोराडी ग्रापं के सरपंच नरेंद्र धानोले, सचिव हरिभाऊ लोहे तथा उपसरपंच आशीष राऊत ने बताया कि, स्वामी विवेकानंद अस्पताल विगत कई महीनों से बंद था। हाल ही में कोरोना का संक्रमण कोराडी में तेजी से बढ़ रहा है। उसे देखते हुए पूर्व मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले के मार्गदर्शन में पहल की गई। उसी के मद्देनजर विगत सोमवार से यहां वैक्सीनेशन का कार्य तेजी से चल रहा है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गुमथी के मेडिकल आफिसर डॉ. राहुल राऊत के निदर्शन में वहां की टीम ने अब तक 607 लोगों को कोरोना का टीका लगाया है। ग्रापं के सरपंच ने लोगों से अनुरोध किया है कि, महामारी नियमों का कड़ाई से पालन करें और कोरोना को हराने में मदद करें। इसके लिए कोराडी ग्रापं के अविनाश भोयर, उमेश निमोने, अर्चना दिवाने, उषा कोडगुले, सत्यमाला बारमाटे, प्रतीक रंगारी, रोशनी जामदार, देवेन्द्र सावरकर, सविता केलकर, वंदना पौनीकर, चंद्रशेखर बीरखेडे, सुनीता कान्हारकर, निर्मला वीरखेडे, प्रीति खोब्रागड़े, दौलत धुर्वे प्रयासरत हैं।

 

काटोल तहसील में 840  लोगों का टीकाकरण

 

कोंढाली में जिलाधिकारी के आदेश पर टीकाकरण केंद्र बढ़ाए गए हैं। शनिवार को काटोल के ग्रामीण रुग्णालय में 113, कोंढाली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 159, कचारीसावंगा में 253 तथा येनवा में 315 इस प्रकार कुल 840 लोगों का टीकाकरण किया गया। यह जानकारी तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शशांक व्यव्हारे, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुनील येरमल, डॉ. दिनेश डावरे, डाॅ. अश्विनी  दातीर,  डाॅ. पराग नरखेडे, डाॅ. आशीष तायवाडे, भूषण गटलीवार तथा यशवंत गणवीर आदि ने दी है।

 

कोविड बेड की संख्या बढ़ाएं : अनीस

पूर्व मंत्री डॉ. अनीस अहमद ने शहर में बेड की संख्या बढ़ाने की मांग पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत से की है। उन्होंने कहा कि, कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में सरकारी व निजी अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाना जरूरी है। मनपा ने शहर के सभी अस्पतालों में बेड के बारे में जानकारी इकट्ठा करनी चाहिए। अस्पतालों में डाक्टरों, चिकित्सा कर्मचारियों व वेंटिलेटर की कमी है। कई बार आक्सीजन सिलेंडर भी उपलब्ध नहीं होते है, इसलिए कोरोना संक्रमितों को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। 

वैक्सीन देने में केंद्र कर रहा टालमटोल

कोविड 19 प्रतिबंधक वैक्सीन की आपूर्ति के मामले में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, महाराष्ट्र में बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन अभियान चलाने की आवश्यकता है। शनिवार को पत्रकारों से चर्चा में पटोले बोल रहे थे। 
 

खबरें और भी हैं...