• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Action will be taken when more than 50% of the capacity is visible in hotels - restaurants and bars

दैनिक भास्कर हिंदी: होटल- रेस्टोरेंट और बार में 50% से ज्यादा लोग दिखाई देने पर होगी कार्रवाई

February 21st, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे ने कहा कि ग्रामीण में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले को देखते हुए सुपर स्प्रेडर का विशेष जांच अभियान चलाया जाएगा। सोमवार से टेस्ट की संख्या बढ़ाने के साथ ही भीड़-भाड़ वाली जगह, मंगल कार्यालय व कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों पर सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जरूरत होने पर ही बाहर निकलने व दूसरे शहर से नागपुर आने पर कोरोना टेस्ट करने का भी आह्वान उन्होंने किया। निजी डॉक्टरों के पास आनेवाले रोगियों की भी जांच की जाएगी। जिला परिषद में शनिवार को हुई उच्चस्तरीय बैठक में जिलाधिकारी ठाकरे ने कहा कि  सार्वजनिक वितरण व सेवा में शामिल घटक यानी सब्जी विक्रेता, सैलून, घरकाम करनेवाली महिलाएं, दूध विक्रेता अनेक लोगों के संपर्क में आते हैं और इन्हें सुपर स्प्रेडर माना जाता है। इनकी टेस्ट की जाएगी।

बगैर मास्क कोई बाहर न निकलें और मास्क नहीं पहनने पर कार्रवाई होगी। कामठी, काटोल, सावनेर पर विशेष नजर है। होटल, रेस्टोरेंट, बार में क्षमता के 50 फीसदी से ज्यादा लोग दिखाई देने पर कार्रवाई होगी। बैठक में जिला शल्य चिकित्सक डॉ. देवेंद्र पातुरकर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दीपक सेलोकर, उपजिलाधिकारी अविनाश कातडे, अति. मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. कमलकिशोर फुटाणे, उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी  राजेंद्र भुयार, डॉ. असीम ईमानदार आदि उपस्थित थे। 

विवाह में 50 से ज्यादा लोग होने पर वधू के पिता पर भी कार्रवाई

जिलाधिकारी ठाकरे ने बैठक के बाद वीडियो संदेश जारी करके कहा कि नागपुर जिले (ग्रामीण) में 1 फरवरी से 15 फरवरी तक 639 कोरोना संक्रमित मिले।  केवल पांच दिनों में 331 कोरोना संक्रमित मिले। संक्रमण कम करने के लिए सभी ने अनुशासित रहकर कोरोना गाइडलाइन का पालन करना जरूरी है।  विवाह में 50 से ज्यादा लोग शामिल होने पर संबंधित मंगल कार्यालय पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। वधू के पिता पर भी कार्रवाई होगी। आदेश का बार-बार उल्लंघन करने पर संबंधित मंगल कार्यालय या होटल को कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया जाएगा।

लॉकडाउन से बचना है तो सहयोग करें 

ठाकरे ने स्पष्ट किया कि फिलहाल लॉकडाउन लगाने का इरादा नहीं है। लॉकडाउन से अर्थचक्र थम जाता है। आर्थिक समस्या खड़ी होकर सभी को परेशानी होती है। वंचित व दुर्बल वर्ग को इसका सबसे ज्यादा असर होता है। इसलिए सभी प्रशासन को सहयोग करें और लाॅकडाउन से बचें। कोरोना जैसे लक्षण होने पर तुरंत टेस्ट करवा लेना चाहिए। स्कूल आनेवाले हर विद्यार्थी की थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है। 

22 से जिले की हर तहसील में जाएंगे जिलाधिकारी 

कोरोना की रोकथाम के लिए जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे 22 फरवरी से जिले की हर तहसील में जाकर बैठक करेंगे। कोरोना प्रतिबंधक उपायों पर पूरी तरह अमल हो रहा है या नहीं इस पर भी नजर रखेंगे। बैठक में राजस्व विभाग, नगर परिषद, जिला परिषद, नगर पंचायत व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी मौजुद रहेंगे। जिलाधिकारी 22 फरवरी को नरखेड, काटोल, कलमेश्वर, सावनेर, नागपुर ग्रामीण, 23 को हिंगना, कामठी, मौदा, कुही में बैठक होगी। 

जिले के स्कूल-कॉलेजों में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन हो रहा है या नहीं इसके लिए 22 को स्कूलों का निरीक्षण होगा। जिलाधीश श्री ठाकरे ने इसके लिए पालक-अधिकारी नियुक्त किए हैं। पालक-अधिकारी 22 फरवरी को शाम 5 बजे अपनी रिपोर्ट जिला प्रशासन को देंगे। विद्यार्थी संक्रमित होने पर संबंधित स्कूल 10 दिन बंद रहेंगे। स्कूल इमारत का हर कक्ष सैनिटाइज करना जरूरी है। स्कूल के प्रवेश द्वार पर ही थर्मल गन से टेंपरेचर लेने की व्यवस्था होना जरूरी है।