comScore

बड़ी कामयाबी : ट्रेन में लूट करने से पहले ही आरोपी गिरफ्तार

बड़ी कामयाबी : ट्रेन में लूट करने से पहले ही आरोपी गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। जबलपुर रेलवे स्टेशन के पास पुल नंबर 3 के करीब आउटर पर खड़ी होने वाली ट्रेन में लूट की वारदात करने के पहले ही गश्त कर रही जीआरपी की टीम ने आरोपी को  घेराबंदी कर मौके पर पकड़ लिया। जिला बदर के आरोपी मंडवा बस्ती गोरखपुर निवासी राहुल गुप्ता उर्फ मटरु है, जिसपर रेलवे में पुराने कई मामले चल रहे हैं। पूछताछ में आरोपी ने पुराने प्रकरणों को स्वीकार किया है, जिसके पास से काफी मात्रा में चोरी का माल बरामद किया गया है। जीआरपी के थाना प्रभारी सुनील नेमा ने बताया कि रविवार को जीआरपी की टीम पुल नं. 3 के पास गश्त कर रही थी, जहां ट्रेनों को आउटर पर रोका जाता है। आउटर पर एक शख्स संदिग्ध हालत में घूमता हुआ दिखाई दिया। टीम को देखते ही वो भागने लगा, तभी यदुवंश मिश्रा, दिलीप बढ़ई, राजेश राज, सुशील सिंह, अजय, नितिन आदि ने घेराबंदी कर उसे पकड़ लिया। कड़ी पूछताछ में आरोपी राहुल ने स्वीकार किया कि वो आउटर पर खड़ी होने वाली ट्रेन में लूट करने की फिराक में आया था। आरोपी को पकड़कर जीआरपी थाने लाया गया, जहां जबलपुर रेलवे स्टेशन पर की गई दो वारदातों को उसने स्वीकार किया।

साथी के साथ मिलकर की थी चोरियां
जीआरपी थाना प्रभारी सुनील नेमा ने बताया कि कड़ी पूछताछ में राहुल ने स्वीकार किया कि सितम्बर 2017 में उसने अपने दो साथियों कन्हैया शुक्ला और सजल रैकवार के साथ मिलकर पाटलिपुत्र लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस में कोच बी-5 की एक महिला यात्री का बैग चोरी किया था, जिसमें दो मोबाइल और अन्य सामान था। इसके अलावा भी उन्होंने मिलकर कई चोरियां की हैं। राहुल के बताए ठिकाने पर छापा मार कर जीआरपी की टीम ने उसके दोनों साथियों कन्हैया और सजल को चोरी के माल सहित हिरासत में लिया है। तीनों आरोपियों को न्यायालय के सामने प्रस्तुत किया गया, जहां न्यायिक अभिरक्षा में केन्द्रीय जेल भेज दिया गया।

आरपीएफ कंट्रोल टीम का स्टेशन पर छापा, अवैध वेंडर्स में भगदड़
रविवार की दोपहर के समय पर लू के थपेड़े चल रहे थे, मुख्य रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ कंट्रोल की टीम ने छापेमारी की कार्रवाई कर दी, जिससे अवैध वेंडर्स में भगदड़ मच गई। सूत्रों के अनुसार दोपहर करीब 3 बजे रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नं. 3 पर अचानक आरपीएफ कंट्रोल टीम के इंस्पेक्टर आरके भास्कर ने अपनी टीम के साथ प्लेटफॉर्म पर बिना वर्दी के खाद्य सामग्री बेच रहे अवैध वेंडर्स के खिलाफ कार्रवाई शुरु की तो हड़कम्प मच गया, वेंडर खाद्य सामग्री लेकर यहां-वहां भागने लगे लेकिन पहले से ही वहां मौजूद आरपीएफ के जवानों ने उन्हें पकड़ लिया। उसके बाद टीम ने रेलवे के सर्कुलेटिंग एरिया में जमे ठेले, टपरे वालों पर भी कार्रवाई की। इस दौरान कुछ दुकानदारों न कार्रवाई का विरोध करते हुए विवाद किया, जिससे कुछ देर के लिए हालात बिगड़ गए। अवैध दुकानदारों के खिलाफ सख्त रवैया दिखाते हुए आरपीएफ कंट्रोल की टीम ने जुर्माने की कार्रवाई की और कुछ वेंडर्स को आरपीएफ पोस्ट ले आए।

कमेंट करें
d0wrl