comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

बीजापुर : राष्ट्रीय बालिका दिवस पर मेधावी छात्राओं को किया गया सम्मानित

January 25th, 2021 17:22 IST
बीजापुर : राष्ट्रीय बालिका दिवस पर मेधावी छात्राओं को किया गया सम्मानित

डिजिटल डेस्क, बीजापुर। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी राष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य समाज में बालिकाओं को उनके अधिकारों एवं उनके साथ होने वाले भेदभाव के प्रति लोगों को जागरूक करना है। कार्यक्रम जिले के सांस्कृतिक भवन में आयोजित किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्रीमती नीना रावतिया जिला पंचायत सदस्य ने अपने जीवन से जुड़े बातों को साझा करते हुए कहा कि वह स्वयं लड़की होकर आज समाज के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही है। उसने कभी भी अपने आपको कमजोर नहीं समझा। पढ़ाई जीवन के बाद राजनीति में जनपद अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य एवं अध्यक्ष जैसे कई पदों पर अपने कतव्यों का निर्वहन किया। बीजापुर की बेटियां शुरू से ही प्रतिभावान है, चाहे खेल हो, शिक्षा हो या किसी भी क्षेत्र में स्वयं को साबित किया है। लड़की हुं सोचकर कभी अपने आपको कमजोर नहीं समझना चाहिए, कड़ी मेहनत और लगन से अपने लक्ष्य को प्राप्त करना है और किसी भी समस्या के समाधान के लिए निःशंकोच शासन-प्रशासन तक अपनी बात रखने के लिए हमेशा तैयार रहने को कहा। शासन की विभिन्न योजनाओं से अवगत कराया। जो बेटियों को आगे बढ़ाने में सहायक है। उसका लाभ लेने के लिए पे्ररित किया। जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती राधिका तेलम ने बेटियों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुभकामनाएं दी और निरंतर मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित किया। कलेक्टर श्री रितेश कुमार अग्रवाल ने इस अवसर पर जिले के बेटियों को अपना विचार प्रकट करने के लिए कहां जिसमें कुछ बच्चियों ने अतिथियों से एवं कलेक्टर श्री अग्रवाल से संवाद भी किये जिसमें कक्षा 10वीं में द्वितीय स्थान प्राप्त कु. आयुषी मिश्रा ने जिला प्रशासन के इस पहल के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया एवं शासन-प्रशासन की विभिन्न योजनाएं महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रही है। जिससे लड़की एवं लड़का का भेद कम हुआ और समाज में आज लड़कियों के सम्मानपूर्वक अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर पा रही है। बैडमिंटन की राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी कु. लक्ष्मी मांझी ने बीजापुर स्पोर्टस एकेडमी के बारे में अपना विचार साझा करते हुए कहा कि जिले में दूरस्थ क्षेत्रों की छात्र-छात्राएं यहां रहकर एकेडमी में तैयारी करते है और राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पदक भी लाए है। इसी तरह सीमा भगत ने बीजापुर के शिक्षण संस्थानों की प्रशंसा की जिससे बच्चों को छात्रावास, स्कूल कोचिंग, खेल के अवसर उपलब्ध कराया जा रहा है। जिससे जिले के लड़कों के साथ-साथ लड़कियां भी विभिन्न क्षेत्रों में अपना परचम लहरा रही है। छूलो आसमान शिक्षण संस्था में प्रैक्टिकल लैब की सुविधा उपलब्ध कराने कलेक्टर से अनुरोध किया। जिन पर कलेक्टर श्री अग्रवाल ने हामी भरते हुए जल्द सुविधा उपलब्ध कराने की बात कही। छात्राओं ने कलेक्टर श्री अग्रवाल से आईएएस की तैयारी के बारे में पूछा जिस पर कलेक्टर श्री अग्रवाल ने विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए आईएएस परीक्षा के विभिन्न चरणों के बारे में बताया। कार्यक्रम के संबोधन में बच्चियों को राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर शुभकामनाएं दिया। अपने संबोधन में कलेक्टर ने कहा कि बच्चियां आज हर क्षेत्र में पुरूषों के समान बराबरी कर रही है। कोई भी ऐसा कार्य नहीं है जिसे लड़कियां नहीं कर सकती। पूरे आत्म विश्वास और लगन के साथ कार्य करने पर सफलता अवश्य मिलती है। आज बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का मुख्य उद्देश्य है कि बेटियों को मुख्य धारा से जोड़ना है। जिसमें शिक्षा, खेल एवं विचार-अभिव्यक्ति में स्वयं को आगे रखना बहुत जरूरी है। बीजापुर जिलों की दूरस्थ अंचलों की बेटियों ने शिक्षा और खेल में जो कामयाबी हासिल की है यह बहुत ही गौरव की बात है। राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के खेल में पदक लाकर जिले का एवं समाज का मान बढ़ाया है। शिक्षा के साथ खेल भी महत्वपूर्ण है। जो हमें अंतिम समय तक लक्ष्य के लिए मुकाबला करने की साहस देता है। वहीं टीम भावना से जुड़कर कार्य करने की प्रेरणा देता है। खेल में जिस तरह हारते बाजी को कठिन परिश्रम और धैर्य से जीता जाता है। वैसे ही जीवन के हर क्षेत्र में अपने सूझ-बूझ कठिन परिश्रम से लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। कार्यक्रम में प्रतिभावान बेटियों का सम्मान किया जिले में दसवीं व बारहवीं में उच्च अंकों से उत्तीर्ण होने प्रथम से पांचवा स्थान प्राप्त करने वाले छात्राओं को प्रशस्ति पत्र, 5000 रूपये का चेक एवं प्रतीक चिन्ह भेंटकर सम्मान किया गया।

कमेंट करें
vTuxo