दैनिक भास्कर हिंदी: छिंदवाड़ा: कृषि वैज्ञानिकों से मिले सीएम, विभिन्न प्रोजेक्ट पर की चर्चा

October 28th, 2019


छिंदवाड़ा: कृषि वैज्ञानिकों से मिले सीएम, विभिन्न प्रोजेक्ट पर की चर्चा
डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। जिले में कृषि अनुसंधान व कृषि आधारित प्रोजेक्ट की नब्ज टटोलने मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आंचलिक कृषि अनुसंधान केंद्र के सह संचालक और हार्टिकल्चर कॉलेज के डीन डॉ. विजय पराडकर व टीएमसी प्रोजेक्ट के प्रभारी डॉ. डीएन नांदेकर से चर्चा की। रविवार को कृषि वैज्ञानिकों ने सीएम कमलनाथ को जिले में जारी अनुसंधान कार्यों व कृषि आधारित परियोजनों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री  ने वैज्ञानिकों द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की।
हार्टिकल्चर कॉलेज के डीन डॉ. विजय पराडकर ने अनुंसधान केंद्र परिसर

में हार्टिकल्चर कॉलेज के प्रथम वर्ष कक्षाओं के संचालन व अस्थाई तौर बनाई गई व्यवस्था का ब्यौरा सौंपा। इसके अलावा जिले में आदिवासी विश्वविद्यालय की संभावना पर चर्चा की। डॉ. विजय पराडकर ने बताया कि आंचलिक कृषि अनुसंधान केंद्र चंदनगांव में नीबूवर्गीय फलों पर छिंदवाड़ा के लिए प्रौद्योगिकी अभियान टीएमसी के तहत संतरा नर्सरी विकसित की गई है। इस नर्सरी से तैयार पौधों में अब फल आने शुरू हो गए हैं। यहां तैयार पौधे पूरी तरह निरोगी हैं तो वहीं फलों की गुणवत्ता भी बेहतर है। इन पौधों से तैयार होने वाले बगीचों की आयु सामान्य बगीचों से डेढ़ गुना है। यही कारण है कि आंध्रप्रदेश और कर्नाटक में भी चंदनगांव नर्सरी के पौधों की मांग हो रही है। डॉ. डीएन नांदेकर ने बताया कि जिले में नीबू की खेती का रकबा बढ़ाया जा सकता है। जिले के मैदानी इलाको में ही नहीं पहाड़ी अंचल में भी संतरा बगीचे तैयार किए जा सकते हैं।