दैनिक भास्कर हिंदी: कलेक्‍टर ने दिए किल कोरोना अभियान के तहत कार्रवाई करने के निर्देश!

June 12th, 2021

डिजिटल डेस्क | अशोकनगर कलेक्‍टर श्री अभय वर्मा ने जिले के समस्‍त एस.डी.एम.एवं इंसीडेंट कमाण्‍डर अनुविभाग अशोकनगर,मुंगावली,ईसागढ एवं चंदेरी को निर्देशित किया है कि अपने अपने क्षेत्रों में किल कोरोना अभियान के तहत कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। जारी निर्देशों के तहत किल कोरोना अभियान के अंतर्गत मतदान केन्द्रवार बीएलओ के नेतृत्व में 10 सदस्यीय टीम का गठन डोर-टू-डोर सर्वे कार्य के अंतर्गत दल के प्रत्येक सदस्य को 50 घरों की प्रतिदिन जानकारी प्राप्त करने का लक्ष्य दिया गया है। दल के प्रत्येक सदस्य की जानकारी विकासखण्ड स्तरीय कंट्रोल एंण्ड कमाण्ड सेंटर द्वारा संकलित की जानी है। विकासखण्ड स्तर से प्राप्त होने वाली जानकारी के अनुसार जिले की 334 ग्राम पंचायतों में से 25 ग्राम पंचायतों में 01 से अधिक पॉजिटिव संक्रमित है।

इसी प्रकार सभी 04 विकासखंण्डों में खाँसी-जुकाम प्रभावित व्यक्तियों की संख्या प्रतिवेदित की जा रही है। जिले के सभी 05 शहरी क्षेत्रों में नगरपालिका क्षेत्र अशोकनगर में 17, चंदेरी में 02, ईसागढ में 03, मुंगावली में 01 एवं शाढौरा में 02 कुल 25 संक्रमित व्यक्ति अभी भी हैं। इस संबंध में किल-कोरोना अभियान के तहत कार्रवाई तत्काल सुनिश्चित की जाये । संक्रमित प्रभावित शेष ग्रामों/वाडौं का तत्काल सघन अभियान चलाकर प्रतिदिन स्क्रीनिंग कर आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने वाले सभी व्यक्तियों का चिन्हांकन कर उनकी जांच कराई जाये। प्रतिदिन किल-कोरोना 4 अभियान अंतर्गत कार्य परिलक्षित होना चाहिए।

कोविड-19 के तहत निर्धारित व्यवहार का पालन कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। कोविड-19 के तहत जारी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालो के विरुद्ध कार्रवाई भी की जाये। ओवर लोडिंग करने वाले वाहनों एवं कोविड नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाये। व्यवसायियों, होटल-ढावा संचालन करने वाले, वाहन चालकों, टेला - रेडी वालों और मजदूरों के टीकाकरण की व्यवस्था की जाये। इसके लिए उनको प्रेरित कर टीकाकरण कराया जाये। टीकाकरण दलों को निरंतर गतिशील बनाया जाये और समूह चिन्हित कर टीकाकरण कराया जाये। सेंपल और टेस्टिंग को फीवर क्लीनिक के साथ-साथ किल-कोरोना अभियान में पाये गये। संभावित संक्रमित व्यक्तियों और उनके संपर्क में आने वालों तक व्यापक रूप से किया जाये। येलो जोन एवं शहरी कंटेनमेंट जोन की सतत् निगरानी की जाये और एक भी संक्रमित पाये जाने पर कंटेनमेंट जोन तत्काल घोषित किया जाये।

खबरें और भी हैं...