comScore

थाना परिसर में खुद को गोली मारने वाले आरोपी की मौत -मामले की न्यायिक जाँच शुरू

थाना परिसर में खुद को गोली मारने वाले आरोपी की मौत -मामले की न्यायिक जाँच शुरू

डिजिटल डेस्क जबलपुर । हनुमानताल थाना क्षेत्र के फरार इनामी बदमाश शुभम बागरी को साइबर टीम द्वारा पकड़े जाने के बाद आरोपी ने  खुद की कनपटी में गोली मार ली थी। इलाज के दौरान देर रात सिटी अस्पताल में उसकी मौत हो गयी। आरोपी की मौत के बाद परिजनों ने आक्रोश जताया था और अंतिम संस्कार के दौरान प्रदर्शन की आशंका के चलते भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।  वहीं इस मामले की न्यायिक जाँच शुरू होने की जानकारी लगने पर लोगों का गुस्सा शांत हो गया।
ज्ञात हो कि खेरमाई क्षेत्र में रहने वाले शुभम बागरी को छेडख़ानी व पास्को एक्ट के मामले में गिरफ्तार करने के लिए एसपी द्वारा 3 हजार का इनाम घोषित किया गया था। उक्त आरोपी के विजय नगर क्षेत्र में होने की जानकारी लगने पर आईजी की साइबर टीम ने उसे गिरफ्तार किया था। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी द्वारा सिविल लाइन क्षेत्र में हथियार छिपाकर रखना बताए जाने पर पुलिस उसे सिविल लाइन थाने लेकर पहुँची थी जहाँ उसने अपनी कनपटी में गोली मार ली थी और देर रात उसकी मौत हो गयी।
परिजनों ने लगाए आरोप
इस मामले में मृतक की बहन सोनम व भाई सत्येंद्र ने घटना को संदेहास्पद बताते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं। परिजनों का कहना था कि गिरफ्तारी के वक्त शुभम की तलाशी लेते हुए उसकी बाइक, चाबी व मोबाइल जब्त किया गया था। अगर उसके पास पिस्टल थी  तो उसे क्यों नहीं जब्त किया। वहीं उनका आरोप था कि शुभम को पकडऩे वाली टीम के एक सदस्य के पास रिवाल्वर थी उसी से गोली चली है। वहीं गोली शुभम ने खुद मारी है या उसे चमकाने में यह घटना हुई है इन बिंदुओं की जाँच कराई जानी चाहिए। परिजनों के आक्रोशित होने पर पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया मृतक के घर पहुँचे और निष्पक्ष कार्रवाई का भरोसा दिलाया उसके बाद शांतिपूर्ण माहौल में मृतक का अंतिम संस्कार किया गया।  
घटना की न्यायिक जाँच शुरू
इस घटना की न्यायिक जाँच के आदेश जारी होने के बाद अपर सत्र न्यायाधीश हरीश वानवंशी ने जाँच शुरू की। उन्होंने घटनास्थल का मुआयना किया और परिजनों के बयान दर्ज किए। वहीं उनकी निगरानी में ही मृतक का पीएम कराया गया एवं उन्होंने चिकित्सकों से बातचीत की है। मामले में निलंबित किए गये साइबर टीम के सदस्यों के भी बयान दर्ज किए जाएँगे।
कान को चीरती हुई गई गोली 7 मृतक शुभम को जो गोली लगी वह उसके कान की ओर से घुसी और दूसरे तरफ कनपटी में छेद करते हुए साइबर टीम के वाहन में लगी थी। वहीं गोली चलने के दौरान थाने में हो रही गणना के बाद सनसनी फैल गयी थी। घटना के दौरान मौजूद अन्य कर्मियों के भी बयान दर्ज किए जा सकते हैं।
इनका कहना है
आरोपी की मौत होने पर मर्ग कायम किया गया है। उक्त मामले में न्यायिक जाँच शुरू की गयी है और जाँच में जो निष्कर्ष सामने आएगा उस आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।
-सिद्धार्थ बहुगुणा, एसपी

कमेंट करें
2SxQZ