comScore

हरपालपुर स्टेशन परिसर में हुआ प्रसव, इलाज न मिल पाने पर प्रसूता की मौत

हरपालपुर स्टेशन परिसर में हुआ प्रसव, इलाज न मिल पाने पर प्रसूता की मौत

डिजिटल डेस्क छतरपुर/हरपालपुर । हरपालपुर रेलवे स्टेशन पर उत्तरप्रदेश के भदोही जिले से महोबा में मजदूरी करने आई प्रसूता की स्टेशन पर ही प्रसव के दौरान तत्काल इलाज न मिल पाने से दर्दनाक मौत हो गई, वहीं नवजात की हालत बेहद गंभीर होने पर उसे सीएचसी नौगांव में भर्ती कराया गया है। 
प्रसूता औरई थाना अंतर्गत खमरिया काशीपुराचक्र गांव की निवासी थी, जिसका नाम किसान उर्फ वहोरी पति शाका वाल्मीकि उम्र 25 साल बताया जा रहा है। वह महोबा में मजदूरी करने आई थी। वह अपने पति के साथ किसी काम से पैसेंजर ट्रेन से दोपहर में हरपालपुर आई थी। इसी दौरान स्टेशन पर ही उसे अचानक प्रसव पीड़ा हुई। जब तक पति कुछ समझ पाता, तब तक कुछ देर बाद प्लेटफार्म पर बने मैदान में प्रसव हो गया। मौके पर स्वास्थ्य सेवा न मिल पाने से प्रसूता को अत्यधिक ब्लीडिंग हुई और प्रसूता चल बसी। वहीं नवजात की भी हालत बिगडऩे लगी, तब तक एंबुलेंस को सूचना दी गई। इसके बाद नवजात को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हरपालपुर ले जाया गया। जहां से नवजात को सीएचसी नौगांव रैफर कर दिया गया। जहां नवजात का इलाज जारी है। 
तुरंत इलाज मिल जाता तो नहीं होती मौत 
वहीं प्रसूता की मौत के बाद स्थानीय लोगों की मदद से शव को सीएचसी नौगांव पीएम के लिए भेजा गया। जहां देर शाम हो जाने से पीएम नहीं हो सका। रविवार को पुलिस द्वारा पीएम कराने की बात कही गई। मजदूर को गरीबी के कारण शव ले जाने में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उसे शासकीय मदद की दरकार है। अगर रेलवे स्टेशन पर ही प्रसूता को तत्काल स्वास्थ्य सेवाएं मिल जातीं, तो शायद प्रसूता की जान बचाई जा सकती थी।
 

कमेंट करें
is9Wq