भिवापुर: संपत्ति के बंटवारे को लेकर बड़े भाई ने छोटे भाई की ली जान

March 1st, 2022

डिजिटल डेस्क, भिवापुर। 7 से 8 किमी की दूरी पर ग्राम भागेबोरी तहसील भिवापुर में रविवार दोपहर लगभग 12 बजे की घटना है। खेतों तथा बैल बिक्री को लेकर बड़े भाई ने अपने बेटे के साथ मिलकर छोटे भाई को लाठी तथा पत्थर से मारने से मौत हो गई। मृतक का नाम विजय डेकाटे  (30) मु. भागेबोरी, तहसील भिवापुर है। पुलिस सूत्रों की जानकारी के अनुसार तथा मृतक की पत्नी के बयान के अनुसार मृतक के पिता भाऊराव सीताराम डेकाटे की 22 दिसंबर 21 को मृत्यु हो गई। पिता की मृत्यु के बाद बड़े भाई हंसराज भाऊराव डेकाटे और पुत्र प्रणय हंसराज डेकाटे, प्रतीक हंसराज डेकाटे विजय डेकाटे के परिजनों से खेती के बंटवारे को लेकर अक्सर विवाद करते थे। रविवार 27 फरवरी को हंसराज डेकाटे, प्रतीक डेकाटे और मधुकर शेंडे मृतक विजय डेकाटे के खेत से बैल ले जा रहे थे। उस वक्त गांव में मौजूद मृतक की मां लीलाबाई तथा विजय ने बैल किसी और को बेचने से मना किया। साथ ही इस बैल को खरीदने की बात कही, लेकिन इस बात को न मानते हुए हंसराज तथा पुत्र प्रतीक ने धक्का-मुक्की की। इस बात से घबराकर मृतक की मां लीलाबाई अपनी बहू करुणा को आपबीती सुनाने खेत जा पहुंची। उस वक्त विजय घर में अकेला था। उसी समय दोपहर 2 बजे के दरमियान गणेश खेडेकर ने भोला मेश्राम को फोन किया, जहां विजय की पत्नी करुणा काम कर रही थी। उसने बताया कि, आप जल्दी घर पहुंचिए। आपके घर पर भाई हंसराज, भतीजा प्रतीक, विजय से वाद-विवाद कर रहे हैं। इस बात की सुध लेकर पत्नी करुणा और मां लीलाबाई दोपहर 2.30 बजे घर पहुंचे। उस समय प्रणय डेकाटे इन्हें देखकर वहां से भाग निकला। पत्नी करुणा ने देखा कि विजय रक्त से लथपथ है। पत्नी उस दिशा की ओर दौड़ी। पत्नी ने विजय को जोर-जोर से हिलाया, लेकिन उसके शरीर में हलचल नहीं होने से उसे विजय के मृत होने का एहसास हो गया। वहीं मृतक के पास रक्त से सना पत्थर तथा एक बांस की लकड़ी पड़ी थी। इस बात की सूचना भिवापुर पुलिस को दी और बताया कि, खेती का बंटवारा तथा बैल को लेकर हंसराज डेकाटे तथा प्रणय डेकाटे ने उसके पति को जान से मार डाला। पत्नी के बयान के अनुसार भांदवि की धारा 302, 34 के अनुसार मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। आगे की जांच भिवापुर पुलिस निरीक्षक महेश भोरटेकर के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक शरद भस्मे कर रहे हैं।