दैनिक भास्कर हिंदी: ओरछा के मंदिर में सेल्फी लेते हुए गिरने से विदेशी पर्यटक की मौत

October 14th, 2017

डिजिटल डेस्क,टीकमगढ़। एक बार फिर सेल्फी लेना एक शख्स पर भारी पड़ गया और उसे अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। दरअसल,  इंग्लैंड के टूरिस्ट रोजर स्टाप बरी मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में पर्यटन स्थल ओरछा आए थे। इस दौरान उनकी पत्नी हिलैरी वाक्सटर भी मौजूद थी।  शुक्रवार दोपहर वो सेल्फी लेने के लिए लक्ष्मी नारायण मंदिर की छत पर चढ़ गए। इसी दौरान उनका पैर फिसल गया और वो 20 फीट नीचे जा गिरे। हालत गंभीर होने पर उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां देर शाम डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 

पुरातत्व विभाग लापरवाह
ओरछा के स्थानीय लोगों का कहना है कि पुरातत्व विभाग का सुरक्षा को लेकर कभी ध्यान नहीं रखा। यहां एक निजी एजेंसी को सुरक्षा का काम दे दिया गया है, लेकिन सुरक्षाकर्मी भी नजर नहीं आते। लक्ष्मी नारायण मंदिर में सुरक्षाकर्मी होता तो वह पर्यटक को छत के किनारे जाने से रोक सकता था, मगर ऐसा नहीं था। इससे पहले भी यहां एक विदेश पर्यटक और चित्रकार डेविड ग्रीन की हत्या हो चुकी है। 

क्या है सेल्फी ?
सेल्फी शब्द वैसे तो साल 2013 में आक्सफॉर्ड डिक्शनरी में अपनी जगह बना चुका है पर कहां से, कौन से देश से आया ये कहना बड़ा मुश्किल है। अमेरिकन साइकेटरिक एसोसिएशन सेल्फी लेने की आदत को मानसिक डिसऑर्डर घोषित कर चुका है। संवेदना सोसाइटी ऑफ मेंटल हेल्थ के डॉ एस.त्यागी कहते हैं कि कोई भी चीज नॉर्मल से ज्यादा या अलग हो जाए तो वो अबनार्मल हो जाती है और सेल्फी उन्हीं चीजों में से एक है। ऐसे लोग जो दिनभर सेल्फी लेते हैं और सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं। दरअसल,वो दूसरे से अपने बारे में कुछ कहलवाना चाहते हैं। अपनी प्रशंसा सुनना चाहते हैं।

जानलेवा सेल्फी
सेल्फी के चक्कर में मार्च 2014 से सितंबर 2016 के दौरान भारत में 76 लोगों की जान जा चुकी है। अपनी सेल्फी को ज्यादा पॉपुलर करने के लिए लोग जान जोखिम में डालने से भी परहेज नहीं कर रहे हैं। वहीं इसी दौरान पूरी दुनिया में सेल्फी लेते वक्त 127 लोग को जान गंवानी पड़ी है।