comScore

परीक्षा ने मिटाया कोरोना संक्रमण का डर, कॉलेज में उमड़ी हजारों छात्राएं

September 15th, 2020 22:52 IST
परीक्षा ने मिटाया कोरोना संक्रमण का डर, कॉलेज में उमड़ी हजारों छात्राएं


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। कोविड-19 के संक्रमण से बचने के उच्च शिक्षा विभाग इस बार परीक्षा ओपन बुक पद्धति प्रणाली से करा रहा है। एक साथ एक जगह में विद्यार्थी कॉलेज मे इक_ा नहीं हो इसके लिए घर से तैयार कर असाइनमेंट जमा करना है। लेकिन जिले के कॉलेजों में उच्च शिक्षा विभाग की इस व्यवस्था को बिगड़ते देखा गया। जिला मुख्यालय के गल्र्स कॉलेज में मंगलवार को एक ही दिन में हजारों छात्राएं असाईंटमेंट जमा करने, ऑन लाइन एडमिशन की प्रक्रिया के लिए कॉलेज पहुंच गई। हालात यह थे कि कॉलेज के मुख्य गेट के सामने अच्छी-खासी भीड़ जमा हो गई । कोरोना संक्रमण के डर से उच्च शिक्षा विभाग ने परीक्षा की पद्धति बदली थी लेकिन परीक्षा के डर ने इसे फेल कर दिया। बड़ी संख्या में छात्राएं असाइनमेंट जमा करने पहुंची गई थी जिसे कॉलेज भी संभाल नहीं पाया और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कहीं देखने को नहीं मिला। छात्राओं की भीड़ को देखते हुए प्राध्यापकों में भी भय का माहौल था।
भीड़ का यह कारण आया सामने-
 छिंदवाड़़ा विवि ने फस्र्ट ईयर और स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष प्राइवेट परीक्षार्थियों के असाइनमेंट जमा करने की अंतिम तिथि 15 सितंबर रखी थी।  रानी दुर्गावती जबलपुर विवि ने द्वितीय वर्ष, तृतीय वर्ष के नियमित और प्राइवेट परीक्षार्थियों के असाइनमेंट जमा करने की अंतिम तिथि 16 सितंबर रखी है। इसी प्रकार एटीकेटी और नियमित के भी असाइनमेंट जमा होना है। कॉलेज में चल रहे ऑन लाइन एडमिशन की प्रक्रिया में यूजी कक्षाओं के लिए सीएलसी राउंड की अंतिम तिथि भी थी। एक ही तिथि में दोनों यूनिवर्सिटी के एडमिशन और असाइनमेंट जमा करने की अंतिम तिथि होने से यह हालात बने।  
बड़ी संख्या से बिगड़े हालात-
कॉलेज में उत्तरपुस्तिका जमा करने छात्राओं की संख्या अधिक होने के कारण ऐसी स्थिति बन गई। दअरसल एक छात्रा को नौ असाइनमेंट जमा करना है जिसके लिए कॉलेज ने अलग-अलग कक्ष निर्धारित किए थे लेकिन छात्राओं की संख्या ज्यादा होने से भीड़ बढ़ गई। प्राध्यापकों की माने तो एक छात्रा को तकरीबन 5 से दस मिनट का समय  जमा करने में लग रहा है।
पीजी कॉलेज ने जारी की रिक्त सीटों की संख्या-
पीजी कॉलेज में स्नातकोत्तर कक्षाओं में ऑन लाइन फीस जमा करने की अंतिम तिथि के बाद रिक्त सीटों की संख्या जारी कर दिया है। पीजी कक्षाओं की अलग-अलग 14 कक्षाओं के लिए पहले चरण में एडमिशन के बाद रिक्त सीटों की संख्या जारी कर दी है।
इनका कहना है-
॥दोनो यूनिवर्सिटी के असाइनमेंट जमा करने की अंतिम तिथि, ऑन लाइन एडमिशन की प्रक्रिया सभी एक साथ होने से छात्राओं की संख्या बढ़ गई थी। कॉलेज में अलग-अलग कक्ष बनाए गए थे। अधिक संख्या होने के बावजूद हमने कोशिश करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग बनाने का प्रयास किया।
- डॉ कामना वर्मा, प्राचार्य, गल्र्स कॉलेज

कमेंट करें
KAqCl