दैनिक भास्कर हिंदी: MODI@4: पीएम मोदी बोले, ये जनपथ नहीं जनमत की सरकार है

September 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने चार साल पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओडिशा के कटक रैली में अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। मनमोहन सरकार में सोनिया गांधी के दखल पर इशारों में तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हम जनपथ से नहीं बल्कि जनमत से सरकार चलाते हैं।पीएम ने अपना भाषण भगवान जगन्नाथ की जय बोलते हुए शुरू किया। उन्होंने कहा कि भगवान जगन्नाथ गरीबों के देवता हैं और गरीबों के भगवान की धरती पर आकर वह धन्य हो गए हैं। उन्होंने कहा कि कटक की धरती पर अनेक महापुरुषों ने जन्म लिया है। वहीं पीएम  ने कहा, देश में कन्फ्यूजन नहीं कमिटमेंट की सरकार है।  देश कालेधन से जनधन की तरफ जा रहा है। कटक के बालीयात्रा मैदान पर पीएम ने इस रैली को संबोधित किया। 

पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें:

  • इन चार वर्षों में देश के 125 करोड़ लोगों में ये भरोसा पैदा किया है कि हालत, स्थितियां बदल सकती है। हमारा हिंदुस्तान बदल सकता है : पीएम
  • आज देश निराशा से आशा की ओर, काले धन से जन धन की ओर, कुशासन से सुशासन की ओर बढ़ रहा है: पीएम
  • ये वो NDA सरकार है जिसके लिए गरीबों का पसीना गंगा, यमुना कावेरी, महानदी के जल की तरह पवित्र है : पीएम
  • हमारी सरकार में बैठे लोग गरीब के दुखों को जानते हैं, उसे जीते आए हैं, और इसलिए गरीब कल्याण हमारी सबसे बड़ी प्रतिबद्धता है: पीएम
  • आज देश भर में बीजेपी के 1,500 से अधिक चुने हुए विधायक हैं। पिछले 4 वर्षों में भाजपा सही मायने में पंचायत से पार्लियामेंट तक की एक विशाल पार्टी बन चुकी है : पीएम
  • हमे जनता का जो आशीर्वाद मिल रहा है वो केवल हमारे दल या किसी नेता की जीत नहीं है बल्कि जनता के विश्वास और विकास की जीत है : पीएम
  • पूर्ण बहुमत वाली सरकार, अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर जिस तरह काम कर रही है, जिस तरह के फैसले ले रही है, साफ नीयत के साथ सही विकास कर रही है, उसने दुनिया में देश की साख को और ऊँचा किया है। न हम कड़े फैसले लेने से डरते हैं, न बड़े फैसले लेने: पीएम
  • जब देश में कंफ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकार चलती है, तब ही Surgical Strike जैसे फैसले लेने की ताक़त रखते है : पीएम
  • जब व्यवस्था में कंफ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकार चलती है, पारदर्शिता पर जोर दिया जाता है, तब जनधन बैंक खाते, आधार और मोबाइल फोन की त्रिशक्ति से 80 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा गलत हाथों में जाने से बचाए जाते हैं: पीएम
  • जब देश में कंफ्यूजन नहीं, कमिटमेंट वाली सरकार चलती है, तब ही दशकों से अटका हुआ बेनामी संपत्ति कानून लागू होता है, दुश्मन की संपत्ति जब्त करने वाला शत्रु संपत्ति कानून लागू होता है: पीएम
  • सत्ता के लिए देश को भ्रमित करने वाले, देश से झूठ बोलने वाले, न कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं और न ही देश को टैक्स के जाल से मुक्ति दिलाने का काम: पीएम
  • कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ जिस लड़ाई का कमिटमेंट लेकर हमारी सरकार चल रही है, उसने किस तरह कट्टर दुश्मनों को भी दोस्त बना दिया है, ये भी देश के सवा सौ करोड़ लोग देख रहे हैं: पीएम
  • पांच हज़ार करोड़ के घोटाले के आरोप में जमानत पे चल रहे लोग हो या अलग अलग आरोपों या घोटालों में घिरे हुए लोग आज एकजुट हो रहे है। ये देश को बचाने के लिए नहीं अपने अपने परिवारों को बचाने के लिए इकट्ठे हो रहे है : पीएम
  • ये लोग अपने स्वार्थ सिद्धि के लिए आज एकजुट हो रहे है। ये याद रखना जरूरी है कि जिस एक परिवार ने 48 साल देश पर राज किया, उसने देश की कितनी परवाह की: पीएम 
  • देश के विकास से ज्यादा अपनी और अपनी पार्टी के विकास के लिए, किसी भी हद तक चले जाने की करतूतें, रिमोट कंट्रोल से संचालित एक प्रधानमंत्री और इन सबसे भी ज्यादा, कैबिनेट और प्रधानमंत्री कार्यालय से बाहर लिए जाने वाले फैसले, मंत्रियों को ई-मेल पर मिलने वाले निर्देश: पीएम
  • इन लोगों ने देश की साख को कहाँ से कहाँ पंहुचा दी थी, देश के लोग ये कभी नहीं भूल सकते है। क्या ऐसे भारत के लिए महात्मा गाँधी ने लड़ाई लड़ी थी: पीएम
  • बुनियादी जरूरत की जितनी भी चीजें थीं, गरीब के काम आने वाली जितनी चीजें थीं, उसकी जिंदगी से जुड़ी थीं, वो 70 साल में सिर्फ 50 प्रतिशत के आंकड़े पर अटक कर रह गईं थीं। सारी सहूलियत समाज के ज्यादातर ऊपरी तबके को ही प्राप्त हो रही थी: पीएम
  • आज जब चार वर्ष बाद मैं आपसे और पूरे देश से बात कर रहा हूं, तब मैं कह सकता हूं कि हमारी सरकार जनपथ से नहीं जनमत से चल रही है: पीएम
  • आज देश के संपूर्ण गांवों तक बिजली पहुंच चुकी है। ये देश के लाखों श्रमिकों के 4 वर्षों के अथक परिश्रम का परिणाम है कि आज देश के उन 18 हजार से ज्यादा गांवों में भी बिजली पहुंच चुकी है जो अब भी 18वीं सदी के अंधेरे में जी रहे थे: पीएम
  • 2014 तक देश की 39% जनसंख्या स्वच्छता के दायरे में थी, आज ये 80% से ज्यादा हो चुका है। आजादी से लेकर 2014 तक देश में लगभग 6 करोड़ शौचालय थे, लेकिन बीते चार साल में साढ़े 7 करोड़ शौचालय बनाए गए हैं: पीएम
  • गैस कनेक्शन का जो दायरा 2014 के पहले सिर्फ 55% था, अब बढ़कर 80% से भी ज्यादा हो गया है। 1 मई 2016 को शुरु होने के बाद से अब तक उज्जवला योजना के तहत 4 करोड़ से ज्यादा महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया जा चुका है:  पीएम
  • क्यों कांग्रेस को कभी ये नहीं दिखाई दिया कि गरीब को बैंक के दरवाजे से दुत्कार कर भगाया जा रहा है? क्यों कांग्रेस को कभी ये नहीं दिखाई दिया कि गरीब का भी जीवन है, उसे भी जीवन बीमा, दुर्घटना बीमा की जरूरत है:पीएम
  • प्रक्रियाओं को जटिल करने वाले 1400 से ज्यादा पुराने कानून खत्म किए जा चुके हैं। ग्रुप सी और डी की नौकरी में इंटरव्यू लेने की बाध्यता खत्म की जा चुकी है: पीएम
  • किसानों पर यूरिया के लिए हफ्तों का इंतजार और लाठीचार्ज का दौर खत्म हो चुका है: पीएम 
  • गरीब और माध्यम वर्ग के रसोई खर्च को हमारी सरकार ने कम करने का काम किया है : पीएम  
  • अब देश में नक्सल प्रभावी जिलों की संख्या 126 से घटकर के 90 में आ गयी है। और 2015 में केंद्र सरकार द्वारा रणनीति बनाने के बाद ज्यादा से ज्यादा नक्सली सरेंडर कर मुख्यधारा में आ रहे है : पीएम
  • मोदी जब तक राष्ट्र निर्माण के इस महान यज्ञ में पूरी श्रद्धा से अपनी आहूति डालता रहेगा, तब तक आपका हर प्रयास जनता और हमारे समीकरण को और मज़बूत ही करेगा: पीएम
  • साफ नीयत और सही विकास के बुलंद नारे के साथ, देश विकासपथ पर इसी ऊर्जा के साथ बढ़ता रहेगा। बात सिर्फ 4 साल की नहीं है, अभी तो लंबा सफर बाकी है: पीएम