दैनिक भास्कर हिंदी: सरकार ने कहा- शराब ठेकेदारों ने किए अनुबंध पर दस्तखत, अब पीछे नही हट सकते- बुधवार को भी जारी रहेगी सुनवाई

June 23rd, 2020

डिजिटल डेस्क जबलपुर । शराब ठेकेदारों की 44 याचिकाओं पर हाईकोर्ट में चीफ जस्टिस अजय कुमार मित्तल व जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की युगलपीठ के समक्ष सुनवाई बुधवार को भी जारी रहेगी। मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से कहा गया कि एक बार अनुबंध पर दस्तखत करते ही ठेकेदार लाईसेंसी की परिभाषा में आ जाते हैं और सरकार को कभी भी अनुबंध की शर्तों में बदलाव करने का अधिकार होता है। ऐसे में सरकार द्वारा बदली गईं शर्तों का पालन करने से ठेकेदार पीछे नही हट सकते। सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया तुषार मेहता और महाधिवक्ता पुरुषेन्द्र कौरव की दलीलें पूरी होने के बाद अब ठेकेदारों की ओर से बुधवार को पक्ष रखा जाएगा। गौरतलब है कि विगत 17 जून को हुई सुनवाई के दौरान ठेकेदारों की उस अर्जी पर कोर्ट ने सरकार को जवाब पेश करने कहा था, जिनमें आरोप है कि आबकारी विभाग द्वारा संचालित की जा रही दुकानों में बिक्री का आंकड़ा सिर्फ 30 प्रतिशत है और ऐसे में सरकार द्वारा ठेकेदारों से शत-प्रतिशत लाईसेन्स वसूला जाना अनुचित है। ठेकेदारों का दावा है कि अनुबंध के बाद चूंकि उन्हें लाइसेंस जारी ही नही हुआ, इसलिये सरकार बदली हुई शर्तों का पालन करने के लिए उन्हें बाध्य नही कर सकती।  इन आरोपों पर बैंच द्वारा बीते 17 जून को दिए गए निर्देश पर सरकार ने मंगलवार को अपना पक्ष रखा।

 

खबरें और भी हैं...