आदि उत्सव का राज्यपाल ने किया शुभारंभ: जनजातीय समाज को मुख्यधारा से जोडऩे का काम कर रही सरकार

May 7th, 2022

डिजिटल डेस्क, मंडला। मंडला के ऐतिहासिक रामनगर किले में पांचवें दो दिवसीय आदि उत्सव का शुभांरभ प्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने किया। उन्होंने कहा कि जनजातीय समाज को जीवन की मुख्य धारा से जोडऩे के लिए सरकार चहुंओर काम कर रही है। मैंने आदिवासियो के यहां जाकर उनकी जमीनी समस्या जानी और उन्हे दूर किया जा रहा है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आदिवासियो के मसीहा है। केन्द्र और राज्य की योजनाओ ने आदिवासी समाज की तकदीर बदल दी है। शिक्षा,स्वास्थ्य और रोजगार के साथ उन्हे जमीन का हक दिलाया है। यहां तक बुनियादी समस्याओ को मिटाया है। पीएम आवास, उज्जवला रसोई गैस का कनेक्शन मात्र उदाहरण है। गौरव दिवस का आयोजन कर पीएम ने आदिवासी संस्कृति को सहेजने व समाज को समृद्वि की ओर ले जाने का प्रयास किया है। राज्यपाल ने आमजनो से बेटी बढ़ाओ बेटी पढ़ाओ पर जोर दिया। समाज को नशामुक्त कराने का संकल्प दोहराया। आदिवासी अंचल में पाई जाने वाली सिकल सेल एनीमिया की बीमारी को हराने के लिए राज्यपाल मंगू भाई पटेल ने आह्वान किया गया है। शादी करने से पहले इसकी जांच कराले कि वर वधु को सिकिल सेल है कि नहीं है। ऐसा विवाह नहीं करे। जिसमें दोनो सिकिल सेल एनीमिया के लक्षण हो। पीढ़ी दर पीढ़ी परिवार को अपनी जकड़ में लेने वाली घातक बीमारी सिकल सेल एनीमिया को हराने में राज्य के विश्वविद्यालय अहम भूमिका निभा रहे हैं, आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाने के साथ ही उन्हें उचित इलाज भी मुहैया कराने के लिए शिविर लगाकर जांच व दवा दी जा रही है।
आदिउत्सव में राज्य पाल के द्वारा प्रदर्शनी का अवलोकन किया। देश की विभिन्न जनजाति संस्कृति की झलक दिखी। जनजाति संस्कृति गोंड राजाओं की विरासत जनजातियों की आस्था केंद्र बोली, भाषा, शिक्षा एवं रोजगार से जोडऩे के लिए उत्सव का आयोजन किया गया। राज्यपाल के समक्ष देश के विभिन्न अंचलों से आए लोक कलाकार आकर्षक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। इस दौरान केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा,केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते सहित प्रदेश के मंत्री और अतिथि उपस्थित रहे।