दैनिक भास्कर हिंदी: सहायक समिति प्रबंधक के तीन ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, 80 लाख की संपत्ति मिली

August 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, टीकमगढ़। जिले की मोहनगढ़ तहसील के अचर्रा सोसायटी में सहायक समिति प्रबंधक मुरारीलाल रावत के घर बीती रात लोकायुक्त टीम सागर ने छापामार कार्रवाई की। लोकायुक्त ने तीन टीमें बनाकर समिति प्रबंधक के टीकमगढ़, अचर्रा और पैतृक गांव दरगांय जाकर छापा मारा। सुबह 5:00 बजे से शुरू हुई जांच-पड़ताल देर शाम तक चलती रही। शाम को लोकायुक्त सागर एसपी सुनील तिवारी ने बताया कि तीनों ठिकानों से नकदी, जेवर, मकान, जमीन और प्लॉटों की रजिस्ट्रियां मिलाकर करीब 80 लाख रुपए की संपत्ति उजागर हुई है।

 

सहायक समिति प्रबंधक के तीन ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, 80 लाख की संपत्ति मिली



दरअसल, अचर्रा सोसायटी में पदस्थ सहायक समिति प्रबंधक मुरारीलाल लंबे समय से विवादों में चल रहे हैं। करीब एक माह पहले गड़बड़ी के चलते अचर्रा सोसायटी को जिला प्रशासन ने सील कर दिया था। इस बीच मुरारीलाल पर हेराफेरी के आरोप भी लगाए गए थे। शुक्रवार को अचानक लोकायुक्त टीम ने सुबह 5:00 बजे मुरारीलाल के कुंवरपुरा रोड स्थित मकार पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी। कुछ देर बाद पता चला कि उनके पैतृक गांव दरगांय और अचर्रा में भी लोकायुक्त की अलग-अलग टीमें छानबीन कर रही हैं।

गड़बड़ी के खिलाफ हुई थी शिकायत
अचर्रा सोसायटी के खिलाफ गड़बड़ी की कई शिकायतें दर्ज कराई गई थीं। जिसके बाद अधिकारियों की टीम ने सोसायटी पर कार्रवाई कर अनियमितताएं पकड़ी थीं। इसके बाद सोसायटी को सील भी किया गया था। इस दौरान सहायक समिति प्रबंधक मुरारीलाल पर भी गंभीर आरोप लगाए गए थे। इसके अलावा सोसायटी का निर्वाचन भी शून्य घोषित किया गया था। पिछले एक साल से अचर्रा सोसायटी विवादों में चल रही है। शुक्रवार को लोकायुक्त कार्रवाई के बाद सोसायटी के समिति प्रबंधक द्वारा किए गए भ्रष्टाचार का मामला भी उजागर हो गया है।

ट्रैक्टर ट्रॉली, चार बाइक भी शामिल
लोकायुक्त टीम ने सहायक समिति प्रबंधक मुरारीलाल रावत के टीकमगढ़, अचर्रा और दरगांय स्थित मकानों पर छापे मारे। इस दौरान बताया गया कि तीनों स्थानों पर रावत के मकान बने हैं। जांच में ट्रैक्टर ट्रॉली, चार वाहन, प्लाट और जमीन की रजिस्ट्रियां, नकदी, सोने-चांदी के जेवर मिलाकर करीब 80 लाख रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ। लोकायुक्त एसपी सुनील तिवारी ने बताया कि मुरारीलाल पर आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया गया है।

ध्वजारोहण मामले में FIR के निर्देश
एक साल पहले स्वतंत्रता दिवस पर अचर्रा सोसायटी में ध्वजारोहण किया गया था। शाम 6:00 बजे के बाद भी राष्ट्रीय ध्वज सम्मान के साथ नहीं उतारा गया। रात में स्थानीय लोगों ने ध्वज का फोटो निकालकर वायरल किया था। मीडिया में मामला प्रकाशित हो जाने के बाद सहायक समिति प्रबंधक के खिलाफ FIR के निर्देश दिए गए थे। यह मामला फिलहाल एसपी कार्यालय में लंबित है। इस बीच शुक्रवार को लोकायुक्त ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में छापामार कार्रवाई कर दी। कार्रवाई के दौरान मुरारीलाल रावत टीकमगढ़ वाले घर पर मौजूद रहे।