दैनिक भास्कर हिंदी:   दो सौ रुपए की रिश्वत के साथ लोकायुक्त के हत्थे चढ़ी एएनएम 

October 28th, 2019

डिजिटल डेस्क सतना। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र छिबौरा के अंतर्गत उप स्वास्थ्य केन्द्र महिदल में पदस्थ पदस्थ एएनएम ऊषा सिंह को महज 2 सौ रुपए की रिश्वत महंगी पड़ गई। एएनएम को लोकायुक्त ने शुक्रवार की दोपहर रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। आरोप है कि एएनएम ने प्रसव सहायता राशि के फार्म के सत्यापन के लिए 500 रुपए की घूस मांगी थी। आरोपी एएनएम ऊषा सिंह के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा- 7,13 के तहत अपराध कायम किया गया है। 
क्या है पूरा मामला 
लोकायुक्त के पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र वर्मा ने बताया कि रामपुरबघेलान थाना क्षेत्र के मझियार निवासी सत्यभान साकेत ने रीवा में लोकायुक्त कार्यालय पहुंच कर इस आशय की शिकायत की थी कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र छिबौरा अंतर्गत उप स्वास्थ्य केन्द्र महिदल में पदस्थ एएनएम ऊषा सिंह द्वारा प्रसव सहायता राशि का फार्म सत्यापन करने के लिए 5 सौ रुपए की रिश्वत मांगी जा रही है। शिकायत की तस्दीक के बाद एएनएम को रंगे हाथ पकडऩे के लिए इंस्पेक्टर विद्यावारिधि तिवारी के नेतृत्व में छापामार टीम का गठन किया गया। 
शासन देता है 16 हजार 
सुरक्षित प्रसव राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसी संस्थागत प्रसव को प्रोत्साहित करने के उदे्श्य से प्रसव उपरांत 16 हजार की आर्थिक मदद देने का प्रावधान है। इसी राशि के भुगतान के एवज में 35 वर्षीया एएनएम ऊषा सिंह पति मेषराज निवासी गाजन (रामपुर बघेलान) रिश्वत मांग रही थी।  रंगे हाथ पकड़ के बाद लोकायुक्त की टीम ने जब एएनएम के हाथ धुलाए तो हाथ रंग गए।